जागरण संवाददाता, कानपुर: जुमा की नमाज अदा करने के लिए सैकड़ों लोग सीवरभराव के कारण मस्जिदों तक नहीं पहुंच पा रहे हैं। इससे नाराज नमाजियों ने बाबूपुरवा की नई मस्जिद के बाहर प्रदर्शन किया। नगर आयुक्त का पुतला फूंका।

बाबूपुरवा, बेगमपुरवा, नई बस्ती, अजीतगंज, महेलिया का मैदान, छेदी पहलवान का अखाड़ा, छोटी बजरिया, बेगमपुरवा सफेद कालोनी व मुंशी पुरवा समेत कई क्षेत्रों में पिछले दो माह से भीषण सीवरभराव है ।

शुक्रवार को नई मस्जिद के बाहर नमाजियों ने नगर निगम पर लापरवाही का आरोप लगाया। नई मस्जिद के पेशइमाम एवं शहरकाजी मौलाना रियाज हशमती ने नाराजगी जताई है। पूर्व पार्षद इजहारुल अंसारी का आरोप है कि कई बार नगर आयुक्त, जलकल के महाप्रबंधक, जोन तीन के अधिकारियों से इस बाबत वार्ता की गई, लेकिन आश्वासन के अलावा कुछ नहीं मिला। प्रदर्शन करने वालों में खुशीर्द अनवर, अनवर सिद्दीकी, असगर खान, तारिक, मुशीर, मुजम्मिल खान, नसरुल हक,फिरोज खान आदि मौजूद रहे।

उधर क्षेत्र के अकील शानू ने बताया कि मुंशीपुरवा में घुटनों तक सीवरभराव है। लोगों के घरों के अंदर गंदा पानी भरा है। बाबूपुरवा में कैथे वाली मस्जिद, सुफ्फाह मस्जिद समेत कई ऐसी मस्जिदें हैं, जहां लोगों को नमाज में दिक्कत आई। उन्होंने कहा कि कई वर्षो से नाले की सफाई नहीं होने का नतीजा है कि नाला चोक हो गया है । उन्होंने बताया कि करीब एक लाख लोग इतनी उमस भरी गर्मी में सीवरभराव की दुर्गंध से परेशान हैं। गंदा पानी होने के कारण लाखों मच्छर हो गए हैं और कई लोगों की तबियत खराब है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप