कानपुर,जेएनएन। कानपुर-लखनऊ रेल रूट पर 160 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से ट्रेन दौड़ाने के लिए पटरियों को बदला जा रहा है। कानपुर गंगापुल बायां किनारा रेलवे स्टेशन से मगरवारा तक पटरियां बिछ चुकी हैं। इसके आगे के सेक्शन यानी उन्नाव यार्ड की ओर रेलपथ विभाग ने पटरी बदलने की कवायद को शुरू कराया है। जिसके चलते आज रेल तथा सड़क यातायात बाधित रहा।

सोमवार को दोपहर करीब 12.10 से रेलपथ के इंजीनियर की निगरानी में यार्ड की पश्चिमी केबिन से पहले लोकनगर क्रासिंग के पास डाउन लाइन पर कार्य कराया गया। इसमें क्रासिंग बंद की गई वहीं दोपहर करीब 12.30 बजे के बाद ब्लाक अवधि में कानपुर से लखनऊ आने वाली ट्रेनों का परिचालन बाधित रहा। शाम लगभग चार बजे तक पटरी पर कार्य कराया गया। इसके बाद कॉशन देकर ट्रेनों को गंतव्य की ओर रवाना किया गया। पीक्यूआरएस (प्लासर क्विक रिलेइंग सिस्टम) के तहत कानपुर-लखनऊ रूट की डाउन लाइन की पटरियों को बदला जा रहा है। सीनियर सेक्शन इंजीनियर विकास कुमार के नेतृत्व में रेलपथ की टीम इस कार्य में लगी है। सोमवार को लोकनगर रेलवे क्रासिंग से करीब 100 मीटर पर पटरी व स्लीपर बदले गए। इसमें कानपुर से उन्नाव होते हुए लखनऊ और रायबरेली, बालामऊ की ओर जाने वाली ट्रेनों का परिचालन बाधित रहा। ब्लाक से पहले पटरियों पर चल रहे कार्य की वजह से नीलांचल एक्सप्रेस, राप्ती सागर एक्सप्रेस के साथ ही तीन मालगाडिय़ों को कॉशन देकर क्रासिंग से निकला गया। ब्लाक होते ही इन ट्रेनों के पीछे आ रही ट्रेन मगरवारा व गंगापुल बायां किनारा स्टेशन के मध्य रोकी गईं।

शाम चार बजे तक ट्रेनों का परिचालन बाधित रहा। विकास कुमार के अनुसार ब्लाक होने पर लोकनगर क्रासिंग को बंद कर दिया गया था। इस क्रासिंग से होकर निकलने वाले वाहन सवारों के लिए वैकल्पिक मार्ग सिविल लाइंस होते हुए कचहरी रेलवे पुल व बड़ा चौराहा रहा। करीब 200 मीटर तक पटरी बदली गई हैं। रेलवे क्रॉङ्क्षसग की ओर 10 मार्च को कार्य कराया जाना है। इसमें सुबह 9 से शाम 6 बजे तक क्रासिंगसड़क यातायात के लिए बंद रहेगी।  

Edited By: Sarash Bajpai