कानपुर, जेएनएन। अपराधियों के सख्त पुलिस का भी दिल नरम होता है। सोमवार को दो प्यार करने वालों को मिलाने के लिए सरसौल पुलिस का भी दिल पसीज गया। शादी करने के लिए अड़े प्रेमी युगल ने पुलिस से गुहार लगाई। समझाने पर परिजन नहीं माने तो प्रेमी युगल के बालिग होने पर चौकी इंचार्ज ने ही माता-पिता का फर्ज निभाया। उन्होंने चौकी परिसर स्थित चतुर्भज बाबा मंदिर में मंडप सजवाया और कन्यादान कर प्रेमी युगल की शादी कराकर विदा किया।

सरसौल निवासी शिवकुमार प्रजापति की 19 वर्षीय बेटी सान्या के दो साल से पड़ोसी शिवभजन प्रजापति के 22 वर्षीय बेटे महेंद्र से प्रेम संबंध थे। पुलिस के मुताबिक प्रेमी युगल ने अपने घरवालों से शादी की बात की लेकिन परिजन तैयार नहीं हुए। इसी वजह से सोमवार को दोनों घर से चोरी छिपे निकलकर सरसौल चौकी पहुंच गए। उन्होंने पुलिस से सुरक्षा व शादी कराने की गुहार लगाई और कहा कि अगर शादी नहीं हुई तो वे जान दे देंगे। सरसौल चौकी इंचार्ज अशोक कुमार ने दोनों के परिजनों को बुलाकर समझाया लेकिन लड़की के परिजन राजी नहीं हुए। इधर लड़के के परिजन शादी को लेकर तैयार हो गए।

चौकी परिसर स्थित चतुर्भुज बाबा मंदिर में पुलिस ने मंडप सजवाया और पंडित को बुलवाया। शादी की पूरी तैयारियां की गईं। चौकी इंचार्ज ने कन्या के माता-पिता का फर्ज अदा किया और कन्यादान की रस्म निभाई। मंदिर परिसर में जयमाल डाला गया और सात फेरे कराकर खुशी खुशी प्रेमी युगल की शादी कराई गई। पुलिसकर्मियों ने उपस्थित सभी लोगों का मुंह मीठा कराया। चौकी प्रभारी ने बताया पिछले साल 15 अक्टूबर को प्रेमी युगल आर्यसमाज से शादी कर चुके हैं, उनके पास सभी दस्तावेज हैं। अब परिजनों की मर्जी से दोनों की शादी कराई गई।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Abhishek

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस