कानपुर, जेएनएन। पनकी निवासी लव जिहाद पीडि़ता संदिग्ध परिस्थितियों में बुधवार दोपहर अपने घर से लापता हो गई। पिता का आरोप है कि आरोपित पक्ष के लोग उनकी गैर मौजूदगी में घर से जबरन बेटी को उठा ले गए। बुधवार को ही आरोपितों की जमानत पर सुनवाई होनी थी। पुलिस मामले में गुमशुदगी दर्ज कराने का दबाव डाल रही है। पनकी पुलिस का दावा है कि लड़की अपने मन से घर से छोड़कर गई है।

आरोपितों की जमानत पर सुनवाई होने से कचहरी गया था पिता

लव जिहाद के मामले में जूही लाल कालोनी के ही पांच युवकों के शामिल होने की बात सामने आने के बाद आइजी के आदेश पर पनकी थाने में मुकदमा दर्ज हुआ था। पीडि़त के पिता ने आरोप लगाया था कि लाल जूही कालोनी निवासी मोहसिन खान उर्फ समीर और आमिर उनकी दो बेटियों को अपने प्रेम जाल में फंसाना चाहते थे। छोटी बेटी ने इसकी जानकारी जब परिवार को दी तो साजिश का पता चला। पुलिस ने पिछले दिनों दोनों आरोपितों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। पीडि़त पिता के मुताबिक बुधवार को आरोपितों की जमानत अर्जी पर सुनवाई होनी थी। वह अदालत गया हुआ था।

पत्नी और दोनों बेटियां घर पर थीं। दोपहर में पत्नी व छोटी बेटी सो गई। जागने पर उन्हें बड़ी बेटी नहीं मिली। पिता का कहना है कि दोपहर तीन बजे वह लौटा तो पत्नी ने बताया कि बड़ी बेटी गायब है। आशंका जताई बड़ी बेटी को आरोपित पक्ष के लोग जबरन उठा ले गए हैं ताकि अदालत में आरोपितों के पक्ष में उससे जबरन बयान दिलवा सकें। थाने में इस आशंका के साथ तहरीर भी दी, मगर पुलिस गुमशुदगी दर्ज कराने का दबाव डाल रही है। पनकी थाना प्रभारी अतुल कुमार ङ्क्षसह ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है।  

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस