कानपुर, जेएनएन। कन्नौज में आगरा लखनऊ एक्सप्रेस वे पर किनारे खड़े किसान को लोडर ने कुचल दिया। उनकी मौके पर ही मौत हो गई। जबकि अन्य दो किसान घायल हो गए। उन्हेंं अस्पताल में भर्ती कराया गया। ये लोग डीसीएम में आम लादकर लखनऊ से फीरोजाबाद जा रहे थे। डीसीएम का टायर पंचर हो जाने के कारण सभी लोग खड़े थे।

फीरोजाबाद के एका थाना क्षेत्र के गिगना गांव निवासी उपेंद्र कुमार पुत्र दलवीर डीसीएम चालक हैं। बुधवार को डीसीएम लेकर वह लखनऊ के मलिहाबाद गए थे। साथ में उनके उन्हीं के गांव निवासी नाटी पुत्र बलवीर सिंह थे। यहां से वाहन में मलिहाबाद माल थाना क्षेत्र के पखरा बाजार गांव निवासी सूरज पुत्र लालता व देवरी भारत गांव निवासी राम कुमार समेत सात किसानों का आम गाड़ी में आम लाद लिया। वह गुरुवार शाम फीरोजाबाद के लिए निकले। किसान भी डीसीएम में सवार हो गए।

आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर 186 किलोमीटर प्वांइट पर शुक्रवार तड़के करीब तीन बजे डीसीएम पंचर हो गई। उपेंद्र टायर बदलने लगा। सूरज व राम कुमार डीसीएम के आसपास खड़े हो गए। इसी दौरान लखनऊ से आगरा की ओर जा रही तेज रफ्तार अनियंत्रित लोडर ने सूरज को कुचल दिया। हादसे में सूरज की मौके पर ही मौत हो गई। साथ ही पास में खड़े रामकुमार को धक्का लगने से मामूली चोटें आई। हादसे के बाद लोडर लेकर चालक मौके से भाग गया। उपेंद्र ने घटना की जानकारी पुलिस को दी। पुलिस ने रामकुमार को मेडिकल कालेज में भर्ती कराया है। कोतवाली प्रभारी निरीक्षक शैलेंद्र कुमार मिश्रा ने बताया कि स्वजन को जानकारी दे दी गई है। 

Edited By: Akash Dwivedi