इटावा, जेएनएन। इटावा सफारी पार्क में नौ साल के बब्बर शेर तौकीर की मौत हो गई। उसे किडनी का संक्रमण था और छह अक्टूबर से खाना नहीं खा रहा था। शुक्रवार शाम तबीयत बिगडऩे पर उसे लायन सफारी के अस्पताल में भर्ती करा ड्रिप लगाई गई, लेकिन देर रात करीब एक बजे उसकी सांसें टूट गईं। तौकीर को बीते 25 सितंबर को गुजरात के शक्कर बाग प्राणि उद्यान जूनागढ़ से लाया गया था। शुरू से ही उसे डॉक्टरों की निगरानी में रखा जा रहा था।

इटावा सफारी पार्क में केंद्रीय चिडिय़ाघर प्राधिकरण के मानक के अनुसार उसे 30 दिन के लिए एनीमल हाउस जू में रखा गया था। तौकीर ने 26 से 29 सितंबर तक खाना नहीं खाया, केवल पानी पीता रहा। हालांकि 30 सितंबर से पांच अक्टूबर तक उसने रोजाना करीब दो से तीन किलो तक मीट खाया। छह अक्टूबर से उसने सब कुछ खाना-पीना छोड़ दिया था। शुक्रवार शाम लगभग छह बजे तौकीर की हालत में सुधार न देखते हुए डॉक्टरों ने उसे सफारी पार्क के पशु चिकित्सालय में शिफ्ट कर दिया। उसके बाद तौकीर कुछ देर बाड़े में घूमा, रात 10 बजे डॉक्टरों ने उसे दवाएं भी दी थीं।

रात एक बजे सघन चिकित्सीय प्रयास के बावजूद उसे बचाया नहीं जा सका। निदेशक वीके ङ्क्षसह ने बताया कि तौकीर की उम्र नौ साल की थी और उसे किडनी का इंफेक्शन हुआ था। केनाइन डिस्टेंपर का संक्रमण उसे नहीं निकला। तौकीर के शव को पोस्टमार्टम के लिए इंडियन वेटनरी रिसर्च इंस्टीट्यूट (आइवीआरआइ) बरेली भेजा जा रहा है। सूचना मिलने पर प्रधान मुख्य वन संरक्षक पवन कुमार, विभागाध्यक्ष वन सुनील पांडेय व अपर प्रधान मुख्य वन संरक्षक संजय श्रीवास्तव ने भी सफारी का निरीक्षण किया। जूनागढ़ से इटावा सफारी पार्क लाए गए सात शेरों में तीन को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गृह जनपद गोरखपुर में निर्माणाधीन चिडिय़ाघर में भेजा जाना है।

Posted By: Abhishek

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप