कानपुर (जागरण संवाददाता)। अगर आप प्राइवेट नौकरी करते हैं तो पीएफ बैलेंस की चिंता जरूर होगी। हजारों की सख्ंया में ऐसे कर्मचारी है, जिन्हें अपना पीएफ बैलेंस पता नहीं होता। उन्हें यहां तक मालूम नहीं होता कि कंपनी उनका पीएफ काट भी रही है या काट रही है तो पैसा आपके खाते में जमा हो रहा है या नहीं। अगर ऐसा है तो चिंतित न हों, पीएफ बैलेंस जानने के लिए मौजूदा समय में कई विकल्प मौजूद हैं।

जरूरी है यूएएन नंबर

किसी भी विकल्प का प्रयोग करने से पहले जरूरी है यूएएन यानी यूनीवर्सल अकाउंट नंबर। यह नंबर ईपीएफओ में पंजीकृत होना चाहिए। इस नंबर को आपकी कंपनी रजिस्टर करवाती है। इस नंबर को आप अपनी पे-स्लिप में भी देख सकते हैं।

विकल्प नंबर एक : ईपीएफओ पोर्टल

ईपीएफओ के पोर्टल पर जाकर सर्विस टैब पर क्लिक करें। इसमें फॉर इम्पलाई विकल्प मिलेगा। इसमें सर्विस सेक्शन में मेंबर पासबुक के विकल्प पर क्लिक करें। आपके सामने एक लॉगिन पेज आएगा, जिसमें आप अपना यूएएन नंबर और पासवर्ड डालें। लॉगिन करने के बाद आप ईपीएफ अकाउंट की सारी जानकारी देख सकते हैं।

विकल्प नंबर दो : एसएमएस

एसएमएस के जरिये भी पीएफ बैलेंस जाना जा सकता है। इसकेलिए पहले ईपीएफओएच टाइप करें। इसके बाद स्पेस दें और अपना यूएएन नंबर लिखें। इसके बाद फिर एक स्पेस दें और जिस भाषा में आपको बैलेंस जानना है उसे लिख दें। अगर अग्रेंजी में जानना है तो ईएनजी लिख दें। हिंदी में जानने के लिए एचआइएन लिख दें। मान लीजिए आपका यूएएन नंबर 987654321 है और आपको ङ्क्षहदी में जानकारी चाहिए तो टाइप ईपीएफओएचओ 987654321 एचआइएन। इस मैसेज को आप 7738299899 पर भेज दें। आपको तुरंत ईपीएफ बैलेंस की जानकारी मिल जाएगी।

विकल्प नंबर तीन : मिस्ड कॉल

ईपीएफ बैलेंस के लिए मिस्ड कॉल का भी विकल्प है। इसमें आपका यूएएन नंबर ईपीएफओ के पास रजिस्टर्ड रहना चाहिए। साथ ही आपकी केवाईसी भी पूरी होनी चाहिए। अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से 01122901406 पर मिस्ड कॉल दें। दो रिंग के बाद फोन अपने आप कट जाएगा। 30 सेकेंड से भी कम समय में आपके मोबाइल पर ईपीएफ बैलेंस का एसएमएस आ जाएगा।

विकल्प नंबर चार : मोबाइल एप

मोबाइल एप से भी ईपीएफ बैलेंस का पता लगाया जा सकता है। इसके लिए आपको भारत सरकार का उमंग एप डाउन लोड करना होगा। यहां ईपीएफओ सेक्शन में जरूरी जानकारी देकर पीएफ बैलेंस चेक कर सकते हैं। ईपीएफओ के एम-सेवा एप के जरिए भी बैलेंस चेक कर सकते हैं। इस एप को प्लेस्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है। इसके बाद बैलेंस या पासबुक सेक्शन में अपने यूएएन नंबर और रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर की जानकारी दें।  

Posted By: Abhishek

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप