जागरण संवाददाता, कानपुर : बिरहाना रोड स्थित दवा मार्केट में एक फरवरी की दोपहर एसटीएफ का फर्जी अधिकारी बनकर पहुंचे अमरोहा जिले के मंडी धनौरा निवासी सतेंद्र कुमार चौहान ने दवा व्यापारी पिंटू गुप्ता उर्फ गुड्डू को थाने ले जाने के बहाने बाइक पर बैठाया था। थाने का रास्ता पार होते ही व्यापारी ने शोर मचाना चाहा तो पीछे बैठे बदमाश ने तमंचा लगाकर जान से मारने की धमकी दी। इस पर व्यापारी सहम गया।

दवा व्यापारी पिंटू गुप्ता ने शुक्रवार को न्यायालय में बयान देते हुए अपहरण की कहानी सुनाई। पुलिस सूत्रों के मुताबिक पिंटू ने बताया कि दवा मार्केट में वह दोस्त की दुकान के पास खड़े थे। तभी चार युवक आए। उनमें से एक ने खुद को एसटीएफ से बताकर तमंचा लगा किनारे गली की ओर ले गया। बोला, तुम दवाइयों का फर्जी काम करते हो, कई दिन से तलाश थी। थाने चलो, वहीं पूछताछ करेंगे। रिश्ते में लगने वाला भांजा आया तो उस शख्स ने अपना कार्ड दिखाकर उसे भी डराया। इसके बाद जबरन बुलेट बाइक पर बैठा लिया। एक बदमाश ने पिंटू की स्कूटी ले ली।

फीलखाना थाने वाली गली पार होते ही तमंचा लगाकर गोली मारने की धमकी दी और आंख पर पंट्टी बांध दी। एक घंटे बाइक चलने के बाद आंखों की पंट्टी खिसकाकर पिंटू ने देखा तो शुक्लागंज (उन्नाव) में शहनाई गेस्ट हाउस का बोर्ड नजर आया। उसके आगे किसी सुनसान स्थान पर खंडहरनुमा मकान में रखा। छह लोग निगरानी कर रहे थे। विरोध पर बुरी तरह पीटा भी। रात में बदमाश ने पिंटू के भाई कृष्ण कुमार का नंबर मिलाकर फिरौती मांगी। अगले दिन रात में भी घुमाते रहे। इसी बीच पुलिस आ गई और बदमाशों के चंगुल से छुड़ा लिया।

--

महिला दारोगा को स्पेशल केस बताकर निकला था शातिर

आरोपित सतेंद्र कुमार ने दोपहर बाद महिला दारोगा का फोन आने पर कहा था कि सीएए से जुड़ा एक स्पेशल केस आया है। पूछताछ के लिए जा रहे हैं। इसके बाद दारोगा ने भी उसे फोन नहीं किया। पुलिस महिला दारोगा से भी बयान लेगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस