कानपुर (जेएनएन)। एक हजार और पांच सौ रुपये के नोट बंद होने के बाद आज बैंकों से 500 तथा दो हजार रुपये के नये नोट जारी हो रहे हैं। पुराने नोटों को लेकर नागरिकों को धैर्य रखने की जरूरत है। उनका धन कहीं जाएगा नहीं।

बैंकों में आज 500 तथा एक हजार के इन नोटों के बदलने और जमा करने का काम शुरू होगा। इसे देखते हुए में बैंक शाखाओं में ग्राहकों की भीड़ उमड़ी है। आरबीआइ ने जहां बैंकों के लिए गाइड लाइन जारी की है वहीं जिला प्रशासन के अधिकारियों ने बैंक अधिकारियों के साथ बैठक कर बैंकों और डाकघरों में नोट जमा करने व बदलने के दौरान ग्राहकों से अच्छा व्यवहार, वितरण की उचित व्यवस्था करने के निर्देश दिए। प्रदेश में बड़े उद्योंगों की नगरी में जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा ने जरूरत के अनुसार काउंटर बढ़ाने को कहने के साथ ही सुरक्षा का आश्वासन दिया। उन्होंने बैंक की कार्य अवधि दो घंटे बढ़ा दी। अब बैंक शाम सात बजे तक खुलेंगी। बैंकों ने अपनी सुविधा के अनुसार टोकन जारी करने का निर्णय लिया है। बैंक अपने यहां मौजूद राशि देखकर ही टोकन जारी करेंगे।

आज बैंक शाखाएं शाम सात बजे तक खुली रहेंगी और नोट बदलने एवं जमा करने का काम चलता रहेगा। बैठक में लीड बैंक मैनेजर समेत विभिन्न बैंकों के मंडल प्रमुख और जिला समन्वयक मौजूद थे।

यह पहचान पत्र होंगे प्रभावी

नोट बदलने जाते समय बैंक में अपने निर्धारित मूल पहचान प्रपत्र और उसकी एक फोटो कापी ले जाएं, इसमें आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आइडी कार्ड, पासपोर्ट, नरेगा कार्ड, पैन कार्ड, सरकारी विभाग से जारी पहचान पत्र या सार्वजनिक उपक्रम के कर्मचारी अपने संस्थान से निर्गत पहचान पत्र।

बैंक और ग्राहक दोनों भरेंगे फार्म

नोट बदलने के लिए बैंक ग्राहकों को एक फार्म भरना होगा। इसमें बैंक, शाखा का नाम, ग्राहक का नाम, साथ लाए गए पहचान पत्र का नंबर, एक हजार और पांच सौ रुपये के पुराने नोटों की संख्या लिखनी होगी। इसके बाद स्थान और समय लिखकर हस्ताक्षर करना होगा। बैंक को मूल पहचानपत्र भी दिखाना होगा।

150 से अधिक ब्रांचों ने नहीं भेजी डिमांड

सूत्रों का कहना है कि नए नोटों के लिए करीब 50 से अधिक ब्रांचों ने अपनी डिमांड नहीं भेजी है। हालांकि इन शाखाओं ने पुराने नोटों की भेजी गई सील रिपोर्ट में जारी किए जा सकने वाले नोटों की संख्या पर्याप्त बताई है।

सौ का नोट मिलेगा, दस के सिक्के भी

बैंकों में नोट बदलने के दौरान सौ, पचास, बीस और दस रुपये के नोट के साथ दस रुपये के सिक्के भी मिलेंगे। हालांकि आरबीआइ में करीब तीन सौ करोड़ रुपये के दो हजार के नोट आए हैं और बैंकों की सरकारी शाखा में बांटे गए हैं। सरकारी शाखाओं से दो हजार रुपये के नोट कम ही शाखाओं में भेजे गए हैं। सूत्रों का कहना है किसरकारी शाखाओं में सौ रुपये के पुराने नोट काफी मात्र में हैं इसलिए पहले इन्हें ही भेजा गया है। दो हजार के नोट आज अधिकतर शाखाओं में भेजे जाएंगे। बैंक शाखाएं आज अपनी जरूरत के अनुसार और भी नोट उठा सकती हैं।

बैंक ग्राहक धैर्य से काम लें

एक प्रमुख बैंक के मैनेजर एके वर्मा ने बताया कि अभी 50 दिनों तक खातों में नोट जमा करने और बदलने का काम चलता रहेगा। बैंक ग्राहक तय पहचान पत्र जरूर ले जाएं।

पढ़ें- नोट बैन का असर, बरेली में जलते मिले 500 और 1000 के नोट

पढ़ें- बरेली में कालेधन का बड़ा खुलासा

पढ़ें- कानपुर में विशेष ड्यूटी से लौट रहे बैंक प्रबंधक समेत आठ की दुर्घटना में मौत

पढ़ें- बैंकों ने की तैयारी, आज विशेष काउंटर खोलकर बदले जा रहे नोटः मुख्य सचि

पढ़ें- खुल गये बैंक, नोट बदलने और जमा करने को लगीं लाइनें

पढ़ें- तकरार, झड़प और हंगामा कराती रही 1000-500 के नोटों पर पाबंदी

Posted By: Dharmendra Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप