कानपुर, जेएनएन। केडीए द्वारा बिना लेआउट के प्लाटिंग और निर्माण कराए जाने से नाराज केडीए बोर्ड सदस्य ने मंडलायुक्त से शिकायत की है कि धड़ल्ले से अभियंता शहर में निर्माण करा रहे हैं। वहीं, कुली बाजार में मकान गिरने के मामले में एक अवर अभियंता को हटा दिया गया है। जिन्हें बाद में दूसरे क्षेत्र में लगा दिया गया हैं। 

केडीए बोर्ड सदस्य रामलखन रावत ने मंडलायुक्त डॉ. राजशेखर को पत्र देकर कहा है कि बिना नक्शे और शमन शुल्क जमा किए शहर में निर्माण हो रहे है इसका खामियाजा केडीए को भुगतना पड़ रहा है। खजाना खाली हो रहा है। विकास कार्य कराने में दिक्कत आ रही है। जनता परेशान हो रही है। अवैध निर्माण का असर ट्रैफिक, बिजली, जल निकासी, पेयजल और ड्रेनेज सिस्टम पर पड़ रहा है। अभी नहीं चेते को भविष्य में शहर में निकलना मुश्किल हो जाएगा। बिना पार्किंग के निर्माण हो रहा है।

इस मामले में अभियंताओं की जांच कराए। कार्रवाई की जाए। एक बार हटाए गए अवर अभियंता कैसे क्षेत्र देख रहे है। हालत यह है कि सीसामऊ बाजार, जवाहर नगर, नेहरू नगर, रामकृष्ण नगर, रामबाग, गांधीनगर, स्वरूप नगर, कंपनी बाग चौराहा के आसपास तेजी से अवैध निर्माण हो रहे हैं, लेकिन अभियंताओं को नहीं दिखायी दे रहे हैं। सुविधा शुल्क मिलने के चलते उधर ध्यान तक नहीं दे रहे हैं।

Edited By: Shaswat Gupta