कानपुर, जागरण संवाददाता। पहाड़ों पर बर्फबारी और हिमालय के पास नया पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने से मैदानी क्षेत्र में शीतलहर और गलन बढ़ गई है। उत्तर पश्चिम बर्फीली हवाओं के साथ मिलकर पश्चिमी विक्षोभ पहाड़ों पर बर्फबारी करा रहा है और मैदानी इलाकों में कड़ाके की सर्दी ला रहा है। रविवार को पूरे दिन लोग ठिठुरते रहे और सोमवार की सुबह कोहरे की चादर छायी रही। वहीं तापमान ढाई से तीन डिग्री तक लुढ़क गया और कोल्ड डे के आसार बन रहे हैं।

मौसम वैज्ञानिकों ने अगले दो दिन तक तापमान में गिरावट होने के आसार जताए हैं। इस दौरान रात से सुबह तक कोहरा और धुंध भी छाने की संभावना है। चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विवि के मौसम वैज्ञानिक डा. एसएन सुनील पांडेय ने बताया कि पश्चिमी हिमालय के आसपास नया पश्चिमी विक्षोभ आया है, जो तेजी से अपना असर दिखा रहा है। पहाड़ों पर लगातार बर्फबारी हो रही है और बर्फीली हवाएं मैदानी इलाकों में ठंडक बढ़ा रही हैं। रविवार को न्यूनतम तापमान 4.8 डिग्री और अधिकतम 16 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। 18 जनवरी को एक अन्य पश्चिमी विक्षोभ भी आ सकता है।

इसके बाद आसमान पर बादलों की आवाजाही शुरू हो सकती है, फलस्वरूप रात का तापमान मामूली बढ़ सकता है, लेकिन दिन में तापमान और घटेगा। इसके अलावा पश्चिमी उत्तर प्रदेश में एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र विकसित हुआ है, जिसके कारण हवा में नमी की मात्रा बढ़ रही है। यही नहीं, पहले से वातावरण में जेट स्ट्रीम भी असर डाल रही है। इससे ठंडी हवाएं पश्चिमोत्तर भारत से दक्षिण पूर्व की ओर बढ़ रही हैं। डा. पांडेय के मुताबिक अगले 24 घंटों के दौरान पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, राजस्थान के कुछ हिस्सों के साथ ही कानपुर मंडल समेत उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ में घना कोहरा हो सकता है। दिन का तापमान कम होने के कारण कड़ाके की ठंड जारी रहेगी।

Edited By: Abhishek Agnihotri