कानपुर, जेएनएन। दो दिन बाद शाम और रात के समय हल्की ठंडक बढ़ने के आसार हैं। हवा सामान्य से कुछ तेज चल सकती है, जबकि दिन के समय धूप निकलेगी। हल्के बादल छाए रह सकते हैं। यह स्थिति जम्मू कश्मीर और हिमाचल प्रदेश के पहाड़ी क्षेत्रों के ऊपर पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने से होगी। इसके असर से पहाड़ी क्षेत्रों में बर्फ गिरेगी, जबकि मैदानी क्षेत्रों में पश्चिमी हवा ठंडक लेकर आएगी। चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के मौसम विज्ञानी डा. एसएन सुनील पांडेय ने बताया कि 30 अक्टूबर तक बारिश के आसार नहीं है। मौजूदा सिस्टम से आसमान साफ रहेगा। हल्के बादल आ सकते हैं। दिन के समय धूप निकलेगी। बिहार और आसपास के क्षेत्रों में चक्रवाती हवा का क्षेत्र बना हुआ है। उत्तर प्रदेश के मध्य पूर्वी भागों पर चक्रवाती हवा का क्षेत्र सक्रिय है। एक चक्रवाती हवा का क्षेत्र दक्षिण तमिलनाडु और आसपास के क्षेत्र पर बना हुआ है। शुक्रवार को असम, अरुणाचल प्रदेश, नागालैंड, कर्नाटक, केरल और तमिलनाडु के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। 

सिक्किम और लक्षद्वीप में हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है। जम्मू-कश्मीर, गिलगित बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद और लद्दाख में हल्की से मध्यम बारिश और बर्फबारी की संभावना है। पश्चिम बंगाल और तटीय आंध्र प्रदेश में हल्की बारिश संभव है। पंजाब के कुछ भागों में बारिश हो सकती है। 26 अक्टूबर तक बंगाल की खाड़ी में उत्तर पूर्वी हवा चलने की संभावना है। गुरुवार को असम, पश्चिम बंगाल, केरल, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक और तमिलनाडु के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश हुई। बिहार, पश्चिम बंगाल और लक्षद्वीप में हल्की से मध्यम बारिश हुई। ओडिशा और रायलसीमा में हल्की से मध्यम वर्षा हुई। आंध्र प्रदेश में कुछ जगह पर और उत्तराखंड में एक या दो स्थानों पर हल्की बारिश रिकार्ड हुई।

Edited By: Shaswat Gupta