कानपुर, जेएनएन। शहर में मौसम का मिजाज बदला हुआ है, हवा की रफ्तार बढ़ी है और आंशिक बादल भी छाए हैं। मौसम विभाग की मानें तो मंगलवार, बुधवार, गुरुवार को सामान्य से काफी तेज रफ्तार में हवा चलने और बारिश के आसार हैं। हवा की गति 30 किलोमीटर तक जा सकती है। वातावरण में धूल उड़ेगी, जबकि बादल भी छाए रह सकते हैं।

चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के मौसम विभाग ने किसानों का अलर्ट जारी किया है। मौसम विज्ञानी डॉ. एसएन सुनील पांडेय ने बताया कि कानपुर, फर्रुखाबाद, कन्नौज, लखनऊ, इटावा, हरदोई, प्रयागराज सहित प्रदेश के कई जिलों धूल भरी आंधी के साथ बौछारें तथा कहीं-कहीं अच्छी बारिश की संभावना बन रही है। हवा के पैटर्न में उलट-पुलट होने से चुभने वाली गर्मी कम हो जाएगी। यह परिवर्तन जम्मू और कश्मीर क्षेत्र के ऊपर सशक्त पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने से हुआ है। उसके असर से हरियाणा, दिल्ली और पश्चिम उत्तर प्रदेश पर चक्रवाती हवा का क्षेत्र विकसित हुआ है।

उन्होंने बताया कि एक ट्रफ लाइन पंजाब से लेकर उत्तर प्रदेश होते हुए बिहार तक बनी हुई है। बंगाल की खाड़ी से आद्र हवाएं उड़ीसा बिहार होते हुए उत्तर प्रदेश के तराई वाले इलाकों से होती हुई उत्तराखंड तक पहुंच रही है। अरब सागर से भी नम हवा मध्य भारत तक अपना असर दिखा रही है। यहां कई मौसमी प्रणालियां काम कर रही हैं। उसका असर मैदानी क्षेत्रों पर दिखाई देगा। मौसम विज्ञानी इस पर नजर रखे हुए हैं। चक्रवाती तूफान का असर मानसून पर पड़ सकता है।

मौसम का हाल

कानपुर में सोमवार को अधिकतम तापमान 37 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से 3.1 डिग्री कम था। वहीं न्यूनतम तापमान 24.6 डिग्री सेल्सियस रहा, जो सामान्य से 0.4 डिग्री कम रहा। सापेक्षिक आर्द्रता अधिकतम 60 प्रतिशत और न्यूनतम 33 प्रतिशत रिकॉर्ड की गई। हवा की औसत गति 6.3 किमी प्रतिघंट रही है। आज और कल तेज धूल भरी आंधी और गरज चमक के साथ हल्की बारिश होने की संभावना है।