कानपुर, जागरण स्पेशल। मैं असीम अरुण पुलिस आयुक्त कानपुर, आपकी क्या सेवा कर सकता हूं। यह चंद शब्द कमिश्नरेट पुलिस में बदलाव की कहानी बयां कर रहे थे। मौका था दैनिक जागरण कार्यालय पर आयोजित प्रश्न पहर का। इसमें शिकायत या समस्याओं को लेकर फोन करने वालों के साथ पुलिस आयुक्त ने आत्मीयता का रिश्ता कायम करके यह संदेश देने की कोशिश की पुलिस विभाग में हुआ बदलाव सिर्फ दिखावा नहीं है। यह संदेश भी था कि आने वाले दिनों में अपराध व अपराधियों पर लगाम, अतिक्रमण, जाम व अन्य सामाजिक समस्याओं को लेकर सकारात्मक परिवर्तन देखने को मिलेंगे। पुलिस आयुक्त ने कहा कि एक साथ कई दिशाओं में काम चल रहा है और जल्द ही भयमुक्त, अपराधमुक्त और जाम मुक्त शहर की परिकल्पना साकार होगी।

जारी रहा प्रश्नों का सिलसिला

प्रश्न पहर में दोपहर दो बजे से तीन बजे के बीच पुलिस आयुक्त ने करीब 30 फोन कॉलर से सीधी बात की और उनकी समस्याओं के निराकरण का भरोसा दिलाया, जबकि 300 से अधिक लोग वेटिंग के चलते बातचीत नहीं कर सके। वहीं सौ से अधिक ऐसे भी लोग रहे, जिन्होंने वाट््सएप मैसेज भेजकर अपनी शिकायतें बताईं। प्रमुख रूप से चर्चित ङ्क्षपटू सेंगर हत्याकांड में बसपा नेता की बेटी अपर्णा सिंह ने आरोप लगाया कि पिता के हत्यारे जेल में साजिश रच रहे हैं। इन्हें दूसरे जिलों की जेल में भेजा जाए।

प्रहलाद सुतवाला ने वीडियो डालकर हालसी रोड के अतिक्रमण का दर्द बयां किया। विजय नगर के राजेश मिश्रा ने मनकामेश्वर मंदिर वाली रोड पर सब्जी मंडी की आड़ में होने वाली अतिक्रमण के बारे में लिखा है। डॉ. संदीप कुमार पाल ने किदवई नगर चौराहे के पास अवैध ऑटो टेंपो मरम्मत कारीगरों की वजह से होने वाले जाम के बारे में लिखा है। इसी प्रकार बारा सिरोही के वेद प्रकाश गुप्ता, आदर्श नगर बर्रा के प्रशांत शुक्ला, राजीव विहार निवासी मनोज कुमार द्विवेदी आदि ने भी अपने समस्याएं वाट्सएप पर भेजी हैं। पढ़िए, कुछ कॉलर के प्रश्न और पुलिस कमिश्नर के जवाब...।

  • मैने बर्रा निवासी तीन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। मामला अदालत में विचाराधीन है। आरोपित सुलह के लिए दबाव डालते हैं। धमकी दे रहे हैं। शिकायत पर बिठूर पुलिस सुनवाई नहीं कर रही। -दीपिका शुक्ला, मंधना

    - मामले की जांच कराता हूं। अगर शिकायत सच निकली तो आरोपित न केवल गिरफ्तार होंगे, बल्कि उनके खिलाफ एक और मुकदमा दर्ज होगा।

  • मेरी बाइक का प्रदूषण प्रमाणपत्र 30 मार्च को समाप्त हो गया है। सोमवार को कानपुर में मेरी बाइक का चालान गलत तरीके से किया गया और मेरे साथ अभद्रता भी हुई। -जय प्रकाश मिश्रा, शुक्लागंज

    - आपका प्रकरण नोट कर लिया है। जांच होगी और सख्त कार्रवाई भी होगी।

  • रानीघाट गोशाला में एक इमारत अनाधिकृत निर्माण के चलते केडीए ने सील की थी। कुछ लोग सील तोड़कर अनाधिकृत रूप से निर्माण कर रह रहे हैं। शिकायत पर पुलिस भी कुछ नहीं कर रही। -हार्दिक, रानीघाट

    - प्रकरण को नोट कर लिया है, केडीए व संबंधित थाना प्रभारी से बात कर कार्रवाई की जाएगी।

  • दहेली सुजानपुर स्थित अवैध प्लास्टिक गोदाम में पिछले दिनों आग लग गई थी। क्षेत्र में ऐसे अवैध कबाड़ गोदाम बहुत से हैं। प्लास्टिक, सर्जिकल उपकरण और बैटरी यहां जलाई भी जाती हैं, जिससे पर्यावरण को नुकसान पहुंच रहा है। दूसरी ओर क्षेत्र के शराब ठेके पर ही अराजकता की स्थिति है। -मनीष निगम, श्यामनगर

    - आपने अच्छी सूचना दी है। कमिश्नरेट में पुलिस को कुछ छोटे-छोटे अधिकार मिले हैं, जिससे जनोपयोगी व्यवस्था परिवर्तन होगी। पर्यावरण को नुकसान पहुंचाने वालों के खिलाफ पुलिस अब सीधी कार्रवाई कर सकेगी। आप जल्द ही अपनी शिकायत पर सख्त कार्रवाई देखेंगे।

  • शहर के तमाम होटलों में अनैतिक कार्य होते हैं, इन्हें रोकें। कुछ लोग पैसों के लालच में नई पीढ़ी को बर्बाद कर रहे हैं। -राजेंद्र मिश्रा, चौबेपुर

    - आपने अच्छी सूचना दी है। ऐसे होटलों को चिह्नित किया जाएगा और इनके खिलाफ सख्त कार्रवाई भी होगी।

  • शहर में पुलिस द्वारा व्यापारियों के उत्पीडऩ की शिकायतें आए दिन आती हैं। पुलिस व्यापारियों से अपराधियों की तरह व्यवहार करती है। - विशाल अग्रवाल, व्यापारी नेता

    - व्यापारियों, डॉक्टर, उद्योगपतियों, समाजसेवियों, संस्थाओं के सहयोग से ही शहर चलेगा। इसीलिए हमने मिशन सहयोग का आगाज किया है। व्यापारियों से भी बात कर उनकी समस्याओं को दूर करेंगे।

  • बेकनगंज बाजार में अतिक्रमण ही अतिक्रमण है। लंबी लड़ाई लड़ चुका हूं, मगर पुलिस व प्रशासन का सहयोग नहीं मिलता। अब कमिश्नरेट लागू होने के बाद उम्मीद जागी है। कुछ कीजिए। - रफीक अहमद सिद्दीकी, बेकनगंज

    - मैने आपकी शिकायत नोट कर ली है। कमिश्नरेट पुलिस आपकी अपेक्षाओं पर शत प्रतिशत खरा उतरने की कोशिश करेगी। अतिक्रमण मुक्त रास्ते हमारी पहली प्राथमिकता है। बदलाव देखने को मिलेगा।

  • मैं मोटिवेशनल स्पीकर हूं। पुलिस को प्रोत्साहित करने के लिए कुछ करना चाहता हूं। - रमाकांत अग्रहरि, समाजसेवी

    -दैनिक जागरण के प्रश्न पहर में लोग शिकायतें व समस्याएं बता रहे हैं। आपके पास समस्या का हल है। आपका स्वागत है। कॉल करके आपकी सेवाएं जरूर लूंगा।

  • चकेरी थानाक्षेत्र स्थित मेरे प्लाटों पर भूमाफिया ने कब्जा कर लिया है। -संजय गुप्ता निवासी किदवई नगर

    - कमिश्नरेट में भूमाफिया के लिए कोई जगह नहीं है। इन पर कड़ी चोट होगी। आपके मामले मैने नोट कर लिए हैं। कार्रवाई होगी।

  • मेरा सुझाव है कि शहर में यातायात व्यवस्था के संचालन के लिए रोजाना एक कॉलेज के छात्रों की ड्यूटी लगाई जाए। इससे उन्हें यातायात के नियमों की जानकारी भी मिलेगी और पुलिस को स्वयंसेवक मिल जाएंगे। -जयप्रकाश साहू, आजादनगर

    - अच्छा सुझाव है। स्कूल, कॉलेज प्रबंधनों से बात करूंगा। यह व्यवस्था वाकई कारगर हो सकती है।

  • निराला नगर से हमीरपुुर रोड को जोडऩे वाली एक चौड़ी सड़क मास्टर प्लान में है। केडीए को इसका विकास करना था, मगर नहीं किया। यह मार्ग झकरकटी बस स्टैंड को भी जोड़ता है। अगर यह रास्ता बनकर तैयार हो जाएगा तो कानपुर दक्षिण के लिए एक नया रास्ता मिल जाएगा, इससे जाम से भी निजात मिलेगी। - कैलाश नाथ अवस्थी, निरालानगर

    - केडीए वीसी और नगर आयुक्त से इस प्रकरण में बात करूंगा। सभी मिलकर सड़क निर्माण का प्रयास करेंगे, ताकि यातायात को पहले से बेहतर बनाया जा सके।

  • मेरी कंपनी के नाम से मिलती जुलती कंपनी बनाकर करोड़ों की ठगी का एक मामला मेरे द्वारा फजलगंज में दर्ज कराया गया था। विवेचना क्राइम ब्रांच से हो रही है। न तो गिरफ्तारी हो रही है और न जांच आगे बढ़ रही है। - कृष्ण गोपाल गुप्ता, दर्शनपुरवा

    - आपके प्रकरण को नोट कर लिया है। जल्द ही आपके प्रकरण में कार्रवाई होगी।

सवालों में निकली काम की बातें

  • पूरे शहर में अतिक्रमण है। हर बार कहा जाता है कि यदि हटाने के बाद अतिक्रमण हुआ तो थानेदारों पर कार्रवाई होगी, मगर होता कुछ नहीं है। अब कमिश्नरेट प्रणाली है। क्या कुछ होगा। - विपिन भाटिया, कल्याणपुर

    -बदलाव की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है और निश्चित तौर पर कुछ ही दिनों में आपको परिवर्तन दिखाई भी देखा। अतिक्रमण हटाने की जिम्मेदारी नगर निगम की है। हमने नगर निगम को अलग से अतिक्रमण विरोधी दस्ता देने का फैसला किया है, ताकि अतिक्रमण के खिलाफ अभियान सतत चलता रहे।

  • हम फुटपाथ चौड़ा बनाते हैं, इसीलिए उनमें कब्जे होते हैं। दिल्ली मुम्बई में केवल एक मीटर चौड़े फुटपाथ बनते हैं, इसलिए उन पर कब्जे नहीं होते। हम ऐसा क्यों नहीं करते। -राम कुमार जुनेजा, रतनलाल नगर

    - आपने बेहद अच्छी सलाह दी है, जिसे अमल में भी लाया जाएगा। आपको जानकारी के लिए बता दूं कि कमिश्नरेट पुलिस कैमरे के साथ फुटपाथ पर कब्जे और अतिक्रमण के चालान करेगी। उनका डाटा बनाएगी। जितनी बार पकड़े जाएंगे, जुर्माना उतना बढ़ता जाएगा। हम इस व्यवस्था के लिए काम कर रहे हैं।

  • मेरे द्वारा शस्त्र लाइसेंस के लिए आवेदन किया गया था। सीसामऊ थाने में मेरी पत्रावली नवंबर 2020 से लंबित पड़ी है। कोई कार्रवाई नहीं हो रही।-एडवोकेट अमिताभ चंद्रा, विकास नगर

    -आपका कार्य जल्द ही हो जाएगा। शहरवासियों को बता देना चाहता हूं कि कमिश्नरेट पुलिस सिटीजन चार्टर का एक कम्प्यूटराइज्ड साफ्टवेयर तैयार कर रही है, जिसमें पुलिस द्वारा प्रदान की जाने वाली सभी सेवाओं के लिए समय तय होगा। इस व्यवस्था की निगरानी भी होगी।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप