कानपुर, जागरण संवाददाता: कल्याणपुर क्रासिंग के पास सब्जी की दुकान लगाकर परिवार का भरण पोषण कर रहे किशोर का  बांट शुक्रवार शाम दारोगा और सिपाही ने उठाकर रेलवे ट्रैक पर फेंक दिया। तराजू उठाने के दौरान किशोर ट्रेन की चपेट में आ गया, जिससे उसके दोनों पैर कट गए। गंभीर हाल में उसे एलएलआर अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

कल्याणपुर के साहब नगर निवासी सलीम अहमद का 17 वर्षीय बेटा अर्सलान (लड्डू) कल्याणपुर क्रासिंग के पास जीटी रोड किनारे सब्जी की दुकान लगाता है। किशोर के भाई मोहम्मद शानू ने बताया कि शुक्रवार को अर्सलान अन्य दुकानदारों के साथ बैठकर सब्जी बेच रहा था। तभी इंदिरा नगर चौकी में तैनात दारोगा शादाब खान ने दो सिपाहियों के साथ मौके पर पहुंचकर गाली गलौज करते हुए दुकानदारों को खदेड़ना शुरू कर दिया।

इस दौरान अर्सलान को सामान उठाने में देरी हो जाने पर भड़के दारोगा और सिपाही ने उसका तराजू बांट उठाकर रेलवे ट्रैक पर फेंक दिया। इरफान रेलवे ट्रैक पर पड़ी तराजू बांट को उठाने पहुंच गया। इसी बीच मेमू ट्रेन आ गई और वह उसकी चपेट में आया। ट्रेन की चपेट में आने से उसके दोनों पैर कट गए। इधर घटना के बाद दारोगा व सिपाही के हाथ पर फूल गए। खून से लथपथ अर्सलान को आनन-फानन एलएलआर अस्पताल में भर्ती कराया जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है।

कल्याणपुर एसीपी विकास पांडेय ने बताया कि बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण घटना है। घटना की सूचना पर डीसीपी पश्चिम विजय ढु़ल भी मौके पर पहुंचे। उन्होंने बताया कि इस मामले में पुलिसकर्मियों की लापरवाही सामने आने पर उनके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

दुकानदारों ने पुलिस पर लगाया उगाही का आरोप

घटना के बाद मौके पर मौजूद सब्जी विक्रेताओं ने हंगामा काटते हुए पुलिस पर उगाही का आरोप लगाया। दुकानदारों के मुताबिक पुलिस बिना पैसे के उनसे जबरन सब्जी व फल ले जाती है। साथ ही रुपए लेकर ठेले वालों की दुकानें लगवाती है। यह क्रम निरंतर चलता रहे इसलिए बीच-बीच में लाठी पटक कर दुकानदारों को भयभीत भी किया करती है।

Edited By: MOHAMMAD AQIB KHAN

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट