कानपुर, जागरण संवाददाता। देह व्यापार की सूचना पर पनकी के एक घर में छापा मारकर जालौन को दो कारोबारियों को दबोचने और बाद में मामला रफा-दफा करने के लिए एक लाख रुपये रिश्वत लेते पकड़ी गई महिला दारोगा भुवनेश्वरी की कहानी इतनी भर नहीं है। खेल इससे कहीं ज्यादा बड़ा चल रहा था और इसमें असली खिलाड़ी महिला दारोगा ही थी। उसके इशारे पर ही देह व्यापार का गिरोह संचालित हो रहा था।

देह व्यापार गिरोह की संचालिका और मुखबिर के जरिये महिला दारोगा धन उगाही के लिए बड़ा शिकार फांसती थी। शिकार आने पर संचालिका और मुखबिर की सूचना पर दबिश देती थी। आपत्तिजनक हालत में फोटो और वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करके उगाही करती थी। पुलिस ने महिला दारोगा समेत तीन आरोपितों को गिरफ्तार कर जेल भेजा है। मुखबिर व देह व्यापार संचालिका समेत तीन आरोपितों की तलाश जारी है।

यह था मामला : एडिशनल डीसीपी पूर्वी राहुल मिठास के दफ्तर में तैनात महिला दारोगा भुवनेश्वरी सिंह ने शुक्रवार को पनकी स्थित एक घर में देह व्यापार की सूचना पर छापेमारी करके जालौन के दो कारोबारियों को बंधक बना लिया था। छोड़ने के एवज में 15 लाख रुपये की मांग की थी। कारोबारियों से 20 हजार की नकदी, चेन, अंगूठी और मोबाइल फोन छीन लिए गए थे। दोनों को बुरी तरह से पीटने के बाद इस शर्त पर छोड़ा था कि रुपयों का इंतजाम करके आएं। पुलिस आयुक्त ने क्राइम ब्रांच को लगाया तो एक लाख रुपये में सौदा पक्का होने के बाद महिला दारोगा सरसैया घाट के पास बुलाकर रिश्वत लेते पकड़ लिया गया।

पूछताछ में सामने आई ये बातें : पुलिस की पूछताछ में सामने आया है कि चकेरी में तैनाती के दौरान ही भुवनेश्वरी सिंह का मुखबिर राहुल शुक्ला से संपर्क हुआ था। इसके बाद से वह मुखबिर के इनपुट पर छापेमारी करती थी। संयुक्त पुलिस आयुक्त आनंद प्रकाश तिवारी ने बताया कि एक मुकदमा कारोबारी के अधिवक्ता धर्मेंद्र सिंह की तहरीर पर भुवनेश्वरी सिंह, होमगार्ड संजीव कुमार, सरसैया घाट निवासी माता प्रसाद गुप्ता और मुखबिर राहुल शुक्ला के खिलाफ लूट, बरामदगी और अपहरण की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है।

दूसरे मुकदमे में देह व्यापार संचालिका को आरोपित बनाया गया है। कारोबारियों को जमानती धारा होने के चलते जमानत पर छोड़ा गया है। माता प्रसाद और संजीव कुमार महिला दारोगा के साथ ही रिश्वत लेने के दौरान पकड़े गए थे। दारोगा के पास चेन और अंगूठियां बरामद हुईं। होमगार्ड के पास से 20 हजार नकदी मिली।

एक सिपाही के साथ रहती है महिला दारोगा : आरोपित महिला दारोगा चकेरी क्षेत्र में एक सिपाही के साथ फ्रैंड्स कालोनी में एक ही घर में रहती है। चकेरी में तैनाती के दौरान ही मुखबिर ने उसे यहां कमरा दिलाया था।

Edited By: Abhishek Agnihotri