कानपुर, जेएनएन। कोरोना की तीसरी लहर की संभावना को देखते हुए सरकारी और निजी अस्पतालों में युद्ध स्तर पर तैयारियों शुरू हो चुकी हैं। विशेषज्ञ कोरोना की तीसरी लहर में सर्वाधिक बच्चों के प्रभावित होन का अंदेशा जता रहे हैं। इसे ध्यान में रखते हुए जीएसवीएम मेडिकल कालेज में 100 बेड का पीडियाट्रिक कोविड हास्पिटल बनाया जा रहा है।

इसी तरह की तैयारी निजी मेडिकल कालेज में भी कराई जा रही है। पनकी स्थित नारायणा मेडिकल कालेज एंड हास्पिटल में 50 बेड का कोविड हास्पिटल तैयार कराया जा रहा है, जिसमें 25 बेड का पीडियाट्रिक इंटेंसिव केयर यूनिट (पीआइसीयू) और 25 बेड का सिक एंड न्यू बार्न केयर यूनिट (एसएनसीयू) होगा। नारायण मेडिकल कालेज के प्रबंध निदेशक उदित नारायण ने बताया कि जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग ने बच्चों के इलाज के लिए बेहतर इंतजाम करने के लिए कहा है। उसे ध्यान में रखते हुए 50 बेड का बच्चों का अस्पताल तैयार करा रहे हैं। उसमें 25 बेड का पीआइसीयू होगा, जिसमें बड़े बच्चों को भर्ती किया जाएगा। अगर तीसरी लहर आती है और उन्हेंं जटिलता होगी तो इलाज किया जाएगा। इसी तरह 25 बेड का एसएनसीयू तैयार कराया जा रहा है, उसमें पांच साल से छोटे बच्चों को भर्ती किया जाएग।

उपकरण का बंदोबस्त : बच्चों के लिए वेंटिलेटर, इन्फ्यूजन पंप, अल्ट्रासाउंड व एक्सरे मशीन भी लगाई जा रही है, ताकि सभी जांचें बेड साइड हो सकें। 

Edited By: Akash Dwivedi