कानपुर, जागरण संवाददाता। Kanpur Ghatampur Accident: घाटमपुर में ट्रैक्टर ट्राली हादसे में 26 लोगों की मौत के बाद गमगीन ग्रामीणों ने सोमवार को निषाद पार्टी के अध्यक्ष एवं यूपी सरकार में मत्स्य विभाग के मंत्री संजय निषाद के आगमन का विरोध किया। युवा ग्रामीणों ने पहले उन्हें गांव के बाहर ही अंदर घुसने से रोक दिया और कहा- जब बुला रहे तब आप क्यों नहीं आए। अभीतक डाक्टरों पर कार्रवाई नहीं हुई और पीड़ितों के भोजन का इंतजाम नहीं हुआ है, ऐसे दौरे से क्या फायदा होना है? बाद में बुजुर्गों के समझाने पर ग्रामीणों ने आने दिया। वहीं मंत्री ने विरोध करने वालों को विपक्षी दल का बताया है।

साढ़ में ट्रैक्टर ट्राली पलटने से 26 महिलाओं और बच्चों की मौत के बाद सोमवार को मंत्री संजय निषाद कोरथा गांव पीड़ित परिवारों से मिलने पहुंचे थे। गांव के अमित, संजय, वीरेंद्र, अनुज आदि ने बताया कि दो दिनों से नेताओं के दौरे जारी हैं, समय पर पर्याप्त इलाज न दे पाने वाले डॉक्टरों पर कोई कारवाई नहीं हुई है। पीड़ित परिवारों के भोजन पानी का इंतजाम नहीं हुआ है। 24 घंटे बाद भी सिर्फ आश्वाशन ही मिल रहे हैं। सब लोग आकर सिर्फ हाल-चाल लेकर चले जा रहे हैं, इसलिए अब यहां आने वालों का विरोध किया जा रहा है।

गांव में मंत्री संजय निषाद के आने पर विरोध की जानकारी पर पुलिस सक्रिय हो गई। सीओ और एएसपी मौके पर पहुंचे और ग्रामीणों को समझाया। इसके बाद मंत्री पीड़ित परिवारों से मिले और उन्होंने मंडलायुक्त को फोन करके उचित दिशा निर्देश दिए। इसके बाद तुरंत भोजन, पानी का इंतजाम हो गया। एसडीएम ने गांव में फल, बिस्किट और बोतल बंद पानी बाटा।

मंत्री ने पत्रकार वार्ता में कहा की उनका ग्रामीणों ने विरोध नहीं किया, सिर्फ एक दो लोग ही थे, जो विपक्ष के पाले के लोग हैं। कहा, प्रधानमंत्री खुद इस घटना की जानकारी लेते रहे हैं और मुख्यमंत्री गांव आए। सरकार पूरी तरह से मदद कर रही है। बताया कि पिछली सरकारों ने बहुत सारी नीतियां गलत बनाईं थीं, जिन्हे सुधारा जा रहा है।

Edited By: Abhishek Agnihotri

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट