कानपुर देहात, जेएनएन। रेल रोको आंदोलन के मद्देनजर सोमवार को भोगनीपुर क्षेत्र में पूरे दिन पुलिस बल सतर्क रहा। एहतियात के तौर पर भोगनीपुर क्षेत्र के पुखरायां, मलासा व चौरा रेलवे स्टेशनों पर पूरे दिन पुलिस बल तैनात रहा। जिसकी वजह से किसान संगठन आंदोलन करने की हिम्मत नहीं कर पाए। 

संयुक्त किसान मोर्चा ने सोमवार सुबह से पूरे देश में रेल रोको आंदोलन शुरू किया था। आंदोलन के तहत भोगनीपुर क्षेत्र के पुखरायां, मलासा व चौरा रेलवे स्टेशनों पर सुबह से ही पुलिस बल तैनात कर दिया था। आरपीएफ व जीआरपी पुलिस को भी सतर्कता बरतने के लिए निर्देश दिए गए थे। आंदोलन के मद्देनजर सीओ प्रभात कुमार, कोतवाल राजेश कुमार सिंह, पुखरायां चौकी इंचार्ज विकल्प चतुर्वेदी ने पुखरायां रेलवे स्टेशन पर जाकर आरपीएफ चौकी इंचार्ज विक्टर लाकरा व जीआरपी चौकी इंचार्ज शिवनारायन सिंह समेत अन्य पुलिस कर्मियों के साथ दोनों प्लेटफार्मों पर सघन जांच की। सीओ प्रभात कुमार ने बताया कि पुलिस की सतर्कता के चलते किसान यूनियन के कार्यकर्ता रेलवे स्टेशनों पर जाने व रेल रोकने की हिम्मत नहीं जुटा सके। इसीतरह कई जगह पुलिस की चौकसी देखी गई जिसकी वजह से किसान संगठन आंदोलन करने की हिम्मत नहीं कर पाए। 

रूरा में भी तैनात रही पुलिस: रूरा स्टेशन पर भी रूरा पुलिस, रेलवे व जीआरपी पुलिस बेहद सक्रिय रही ऐसे में किसान यूनियन के लोग प्लेटफार्म तक फटक नहीं सके। सुबह से ही प्रभारी एसओ अनिल कुमार, कस्बा इंचार्ज प्रभाकर यादव भारी पुलिस बल के अलावा झींझक जीआरपी चौकी प्रभारी राकेश पाल व आरपीएफ सुरक्षा बल पूरी सतर्कता से प्लेटफार्म पर मुस्तैद रहा। दोपहर बाद एसडीएम अकबरपुर राजीव राज व सीओ अरुण कुमार की मौजूदगी में किसान यूनियन के विपिन तिवारी, रमेश सिंह, राम नारायण, बालकृष्ण सहित अन्य लोगों की उपस्थिति में यात्री पैदलपुल पर किसान हित की विभिन्न मांगों वाला राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन एसडीएम अकबरपुर व सीओ को सौंपा। 

Edited By: Abhishek Agnihotri