कानपुर, जेएनएन। पुखरायां नगर पालिका अध्यक्ष सत्यप्रकाश संखवार के बेटे पर फर्जी तरीके से उद्यान विभाग में संविदा पर काम कर मानदेय निकालने का आरोप लगा है। उद्यान अधिकारी ने इसे कुछ विभागीय लोगों की साजिश बताया है साथ ही जांच में सच्चाई आने की बात कही है।

पुखरायां नगर पालिका अध्यक्ष सत्यप्रकाश संखवार के बेटे अजीत ने बीते वर्ष बीटीसी किया है। करणी सेना के एक पदाधिकारी ने विभाग में शिकायत कर आरोप लगाया है कि पालिकाध्यक्ष के बेटे को फर्जी तरीके से उद्यान विभाग में संविदा पर सहायक पद पर भर्ती हुए और हजारों रुपये के मानदेय का लाभ लिया है। उनके बेटे की मार्कशीट व बाकी दस्तावेज इसमें लगे हुए हैं। वहीं मामले की जानकारी पर पालिकाध्यक्ष ने बताया कि शिकायत करने वाले ने उनको भी फोन किया था तभी उनको यह पता चला, उनका बेटा बीते वर्ष बीटीसी किए है और कहीं नौकरी नहीं है। मूसानगर का एक परिचित राजेश करीब चार पांच वर्ष पूर्व बेटे की नौकरी लगवाने के नाम पर मार्कशीट व बाकी दस्तावेज की फोटो कापी लेकर गया था। करीब एक वर्ष तक कुछ न होने पर उससे फोटोकापी वापस ले ली थी। उन्हें शक है कि उसने ही कुछ खेल किया और उनका नाम गलत लिया जा रहा है। उधर जिला उद्यान अधिकारी सुभाष चंद्रा ने बताया कि डीबीटी के माध्यम से सब्जी के काम के लिए सबद्ध एक एनजीओ को करीब 42 हजार रुपये का भुगतान किया था। अब उस एनजीओ ने पालिकाध्यक्ष के बेटे या फिर किसी और को काम के लिए रखा और नौकरी की बात कही तो यह उसकी जिम्मेदारी है। एक नलकूप चालक जो कि विभाग में सबद्ध है वह खेल करते हुए अधिक वेतन ले रहा था इस पर उसे नोटिस दिया गया है और कार्रवाई चल रही। उसके इशारे पर ही विभाग को बदनाम करने की साजिश है। जांच उपनिदेशक कृषि करेंगे और सब साफ हो जाएगा। उपनिदेशक कृषि विनोद यादव ने बताया कि जांच का लिखित आदेश मिलने पर जांच होगी।

 

Edited By: Akash Dwivedi