कानपुर, जागरण संवाददाता। ज्योति मिश्रा और अमित कुमार की एक ही परिस्थिति में संदिग्ध हालातों में मौत और दोनों ही मामलों में आत्महत्या का दावा पुलिस के लिए बड़ा सवाल बना हुआ है। तीन दिन से चल रही एसआइटी (विशेष जांच दल) जांच में अब पुलिस इस प्रेम त्रिकोण में किसी चौथे की मौजूदगी भी महसूस कर रही है।

अमित की मौत के बाद पुलिस मामले को हत्या के नजरिए से देख रही है और इसी आधार पर एसआइटी ने जांच शुरू की है। एसआइटी ने अब इस प्रकरण में अमित, ज्योति और विमल की निजी जिंदगी खंगालने का फैसला किया है। पुलिस का अनुमान है कि हो सकता है कि इस कहानी में कोई चौथा व्यक्ति भी हो, जो कि इन तीनों में से किसी एक का करीबी हो और उसी ने वारदातों को अंजाम दिया हो।

एसआइटी पर्यवेक्षक बृजेश कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि पुलिस ज्योति के मोबाइल की सीडीआर और उस समय अन्य लोगों की सीडीआर खंगाल रही है। आने वाले दिनों में अमित, ज्योति और विमल की सीडीआर का एक साथ अध्ययन किया जाएगा। इसमें इन तीनों की पारिवारिक कुंडली खंगालना भी शामिल है।

Edited By: Nitesh Mishra