कानपुर, जागरण संवाददाता। Kanpur Bilhaur Incident बिल्हौर के अरौल क्षेत्र के कोठीघाट पर गंगा नहाने के दौरान डूबे लोगों की खोजबीन के दौरान बुधवार को तीन लड़कियों के शव पुलिस ने बरामद किए। एक लड़की का शव दोपहर में संजती बादशाहपुर गांव के पास जबकि दो लड़कियों के शव देर शाम नानामऊ में उतराते मिले।

अरौल के कोठीघाट पर मंगलवार दोपहर मामा संग गंगा नहाने गए भांजे भांजियों समेत छह लोग डूब गए थे। सूचना पर पहुंची पुलिस ने गोताखोरों की सहायता से बरंडापुरवा गांव निवासी मामा सौरभ को निकाल कर सीएचसी भेजा था। जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया था।

वहीं बैरी, कल्याणपुर निवासी स्व विनय कुमार की 15 वर्षीय बेटी अनुष्का, 12 वर्षीय बेटी अंशिका उर्फ मन्नू, हब्बापुरवा फर्रुखाबाद निवासी रामबाबू का 20 वर्षीय बेटा अभय, वंश प्रदीप की 17 वर्षीय बेटी तनुष्का उसकी 13 वर्षीय बहन अनुष्का लापता हो गई थी। पुलिस ने एसडीआरएफ, पीएसी समेत स्थानीय गोताखोरों की टीम लगाकर खोजबीन की थी। लेकिन देर शाम तक लापता पांच लोगों का कोई सुराग नहीं लगा था।

बुधवार को एसडीएम रश्मि लांबा, तहसीलदार लक्ष्मीनारायण बाजपेई, सीओ राजेश कुमार ने पांच टीमों को लगाकर सुबह चार बजे से खोजबीन शुरू की। सुबह नौ बजे जिलाधिकारी विशाख जी, एडीएम वित्त राजेश कुमार व एसपी आउटर तेज स्वरूप सिंह भी मौके पर पहुंच गए।

अधिकारियों की निगरानी में हुई खोजबीन के दौरान दोपहर डेढ़ बजे कल्याणपुर निवासी स्व विनय कुमार की बेटी अनुष्का का शव संजती बादशाहपुर गांव के पास गंगा किनारे झाड़ियों में फंसा मिला। पुलिस शव नानामऊ घाट ले गई। जहां स्वजन से पहचान कराने के बाद पंचनामा भरकर शव पोस्टमार्टम हेतु भेज दिया।

इसके बाद तलाशी अभियान जारी रहा। देर शाम लगभग साढ़े सात बजे नानामऊ घाट के पास एसडीआरएफ की टीम को स्व विनय कुमार की दूसरी बेटी अंशिका व हब्बापुर फर्रुखाबाद निवासी वंश प्रदीप की बेटी अनुष्का के शव उतराते दिखाई दिए। टीम ने शव बाहर निकाले। मौके पर पहुंचे स्वजन शव देख बेहाल हो गए। सीओ राजेश कुमार ने बताया कि स्वजन से पहचान कराने के बाद पंचनामा भरकर शव पोस्टमार्टम के लिए कानपुर भेजे गए हैं। 

Edited By: Abhishek Agnihotri

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट