कानपुर, जागरण संवाददाता।  मुख्यमंत्री के अवैध आटो-टेंपो और बस स्टैंड को हटाने के लिए शुक्रवार को चले अभियान में एसीएम- 2 आकांक्षा गौतम,एआरटीओ सुनीत दत्त पुलिस टीम के साथ झकरकटी बस अड्डे पहुंचे थे। यहां टीम को देख कर प्रवेश द्वारा पर लगे आटो-टेंपो तो चालक लेकर भाग खड़े हुए। प्रवेश द्वार के मुहाने पर अतिक्रमण कर लगी दुकाने नहीं दिखीं। वहीं बसों के संचालन की जिम्मेदारी उठाए  झकरकटी बस अड्डे के एआरएम को अतिक्रमण ना हटवा पाने पर यूपी रोडवेज के आरएम ने कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया।

शुक्रवार को शहर के विभिन्न क्षेत्रों में प्रशासनिक अधिकारियों की अगुवाई में आरटीओ,यातायात पुलिस और नगर निगम ने अवैध आटो-टेंपो हटाने का अभियान चलाया था। इसमें सड़क पर अतिक्रमण कर लगीं रेहड़ी-पटरी और दुकानों को भी हटवाया गया था। झकरकटी बस अड्डे पर एसीएम-2 आकांक्षा गुप्ता,एआरटीओ सुनील दत्त और यातायात पुलिस की टीम को बस अड्डे के मुहाने पर अतिक्रमण कर लगी दर्जनभर दुकानें नहीं दिखीं। जिनकी आड़ में ई-रिक्शा,आटो और टेंपो प्रवेश द्वार पर कब्जा किए रहते हैं। अभियान के बाद भी शनिवार को भी ई-रिक्शा यहां के अवैध स्टैंड में खड़े थे। 

जिससे मतलब नहीं उससे मांगा जवाब

एआरएम के पास बस अड्डे पर यात्री सुविधा की देखरेख,बसों का समय से संचालन का जिम्मा होता है। रेलवे की जमीन पर अतिक्रमण कर दुकाने लगी हुईं हैं। यूपी रोडवेज के आरएम कानपुर रीजन अनिल अग्रवाल ने झकरकटी बस अड्डे के एआरएम राजेश सिंह को अतिक्रमण न हटवा पाने के लिए कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया। 

Edited By: Abhishek Verma