कानपुर, जेएनएन। प्राविधिक शिक्षा मंत्री कमल रानी वरुण ने कहा है कि देश का अनुसूचित समाज जिधर चलता है, हवा का रुख भी उधर हो जाता है। अनुसूचित समाज ने नरेंद्र मोदी पर भरोसा जताकर पूरा समर्थन दिया तो उन्होंने केंद्र में प्रचंड बहुमत के साथ सरकार बनाई है। इतिहास गवाह है कि दलित समाज जिस भी पार्टी के साथ रहा सरकार उसकी बनी। लेकिन, मायावती सहित अन्य नेताओं ने इस समाज का वोट लेने के बाद छलने का काम किया।

गोविंदनगर में भाजपा अनुसूचित मोर्चे के सम्मेलन में मंत्री ने कहा कि वर्ष 2014 में यह सिलसिला टूटा और मोदी जी के प्रधानमंत्री बनने के बाद से अनुसूचित समाज जो सम्मान मिला, जो विकास हुआ, वह इससे पहले कभी नहीं हुआ। प्रधानमंत्री ने उच्जवला योजना, सौभाग्य योजना, इंद्रधनुष योजना और आयुष्मान भारत समेत अनेक ऐसी योजनाएं दीं, जो सीधे समाज के निचले तबके तक पहुंचीं।

आज किसी अनुसूचित जाति के व्यक्ति को बीमार होने पर किसी के आगे हाथ नही फैलाने की जरूरत नहीं पड़ती। सम्मेलन को पार्टी के गोविंद नगर प्रत्याशी सुरेंद्र मैथानी, उत्तर प्रदेश अनुसूचित जाति एवं जनजाति आयोग के सदस्य छविलाल सुदर्शन किशनलाल सुदर्शन और रामलखन रावत ने भी संबोधित किया। अध्यक्षता अनुसूचित मोर्चा के क्षेत्रीय अध्यक्ष उपेंद्र पासवान एवं संचालन जिला अध्यक्ष धीरज बाल्मीकि ने किया।

Posted By: Abhishek

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप