कानपुर, जागरण संवाददाता। पुरी के भगवान जगन्नाथ रथयात्रा उत्सव की तर्ज पर शहर में दूसरे दिन भी आस्था का सैलाब रथयात्रा में देखने को मिला। दोपहर में मेधों ने गीत मल्हार गाकर प्रभु के आगमन का आह्वान किया। वहीं, शाम पहर रजत जड़ित प्राचीन रथ पर सवार प्रभु जगन्नाथ, बहन सुभद्रा और भाई बलभद्र के साथ कई देवी-देवताओं ने शहरवासियों को दर्शन दिए। प्रभु के आगमन पर भक्तों ने ध्वज-पतकाएं और ढोल-नगाड़ों बजाकर पुष्पवर्षा की। आरती पूजन कर भक्तों ने सुख-समृद्धि की कामना की। यह दृश्य था जनलरगंज स्थित प्राचीन बिरजी भगत मंदिर और उमा-जगदीश मंदिर से निकली रथयात्राओं का। जिसने शहर को भगवान जगन्नाथ के रंग से सराबोर कर दिया।

शनिवार को जनरल गंज जगन्नाथ गली स्थित प्राचीन मंदिर श्री जगन्नाथ जी महाराज बिरजी भगत मंदिर का 212वां वार्षिकोत्सव धूमधाम से मनाया गया। नगर भ्रमण को निकले प्रभु का रथ जनरलगंज स्थित मंदिर से काहूकोठी, बिरहाना रोड, नयागंज चौराहा, मनीराम बगिया, मेस्टन रोड, चौक सर्राफा, कोतवाली चौराहा, प्रयाग नारायण मंदिर, कमला टावर होते हुए पुन: मंदिर में पूर्ण विश्राम लिया। प्राचीन रथयात्रा में 12 मंडलों ने राधा-कृष्ण, शिव परिवार, भगवान राम, वीर हनुमान के साथ कई मनोहारी झांकियों की प्रस्तुति से रथयात्रा को जन-जन के हृदय में बसा दिया। मंदिर के प्रबंधक ज्ञानेंद्र कुमार गुप्ता, गोपाल गुप्ता, अभिषेक गुप्ता, अंबरीष, समीर, पुष्कर सहित सैकड़ों भक्त उपस्थित रहे। 

उमा जगदीश मंदिर की रथयात्रा में प्रभु के साथ बालरूपी भगवान ने दिए दर्शन 

जनरलगंज स्थित प्राचीन उमा जगदीश मंदिर की रथयात्रा की शुरुआत धनकुट्टी स्थित से हुई। रथयात्रा में भगवान जगन्नाथ के दिव्य स्वरूप के साथ बालरूपी भगवान ने नगर भ्रमण कर भक्तों को दर्शन दिए। रथयात्रा कलक्टरगंज, शक्करपट्टी, बेरीवाल कुआं, नयागंज, जनरलगंज बजाजा, मनीराम बगिया, मूलगंज, मेस्टन रोड, चौक सर्राफा, गिलिस बाजार होते हुए पुन: मंदिर में आकर विश्राम लिया। भगवान के रथ के साथ दुर्गा स्तुति, महारस, राम दरबार में लव-कुश के बालहट, शिव भांग प्रेम, माता काली और महिषासुर युद्ध की मनोहारी झांकियां और श्री ओमर वैश्य अमर ज्योति मंडल, रामकृष्ण मंडल तथा जगन्नाथ मंडल के सदस्यों की ओर से वाद्ययंत्रों की प्रस्तुति ने वातावरण को भक्तिमय बना दिया। विधानसभा अध्यक्ष सतीश महाना, सांसद सत्यदेव पचौरी, एमएलसी सलिल विश्नोई, विधायक अमिताभ बाजपेयी सहित विभिन्न राजनीतिक दलों के प्रमुख व प्रशासन के अधिकारियों ने आरती कर रथ को खींचा। इस अवसर पर डा. श्याम बाबू गुप्ता, रज्जन लाल, सुरेश चंद्र गुप्ता, संत गोपाल गुप्ता, गोपाल कृष्ण, अरविंद, दीपक गुप्ता, जगदीश गुप्ता आदि उपस्थित रहे।

नगर भ्रमण कर प्रभु ने दिए दर्शन, दक्षिण में गूंजा जय जगन्नाथ

श्री जगन्नाथ सेवा समिति की ओर से शनिवार को रथयात्रा साइड नंबर एक से विधिवत आरती पूजन के बाद निकली। रथयात्रा मार्ग में कृपा लुटाते हुए भगवान जगन्नाथ और शिव बरात में शामिल राधा-कृष्ण, रावण द्वारा भगवान शिव का पूजन, नव दुर्गा, बानर सेना, श्रीराम वनवास के साथ कई मनोहारी झांकियाें ने दक्षिणवासियों को भक्तिरस से सराबोर कर दिया। भक्तों ने जय जगन्नाथ... और ठाकुर भले विराजो जी ओडिशा जगन्नाथ पुरी में भले विराजो जी... के जयकारों से दक्षिण गूंज उठा। डांडिया नृत्य करतीं हुईं महिलाओं को उत्साह भगवान जगन्नाथ रथयात्रा में प्रमुख आकर्षण का केंद्र रहा। हर कोई आस्था के इस संगम में डुबकी लगाने को आतुर दिखा। भक्तों ने प्रभु का जयकारा लगाते हुए रथ खींचा और सुख-समृद्धि की कामना की। इस अवसर पर समिति के महामंत्री विजय गुप्ता, संयोजक अलंकार ओमर, कोषाध्यक्ष अनूप गुप्ता, बालकृष्ण गुप्ता, विनय अवस्थी, अभिनव ओमर, सुनील कनौजिया, नवीन गुप्ता, महिला मंडल से संगीता गुप्ता, शिल्पा गुप्ता, राखी ओमर आदि उपस्थित रहीं। वहीं, जनरलगंज से श्री आदिशक्ति जीण माता जीर्ण माता जी सेवा समिति की ओर से भगवान जगन्नाथ रथयात्रा में पहली बार श्री आदिशक्ति जीण माता की झांकी को शामिल किया गया। भगवान की रथयात्रा में जीण माता के दर्शन को बड़ी संख्या में भक्त पहुंचे। समिति के अध्यक्ष सुधीर अग्रवाल, उपाध्यक्ष श्याम सुंदर शर्मा, महामंत्री अमित खंडेलवाल, कोषाध्यक्ष भरत हरी कनोडिया, योगेंद्र पांडे, मनीष, आशीष अग्रवाल आदि उपस्थित रहे।

Edited By: Abhishek Verma