औरैया, जेएनएन। गया (बिहार) से दिल्ली जा रही महाबोधि एक्सप्रेस में दोस्तों के संग सफर कर रहा यात्री न्यू कंचौसी रेलवे स्टेशन के पास कोच से गिर गया और ट्रैक के किनारे ओएचई पोल से टकराकर उसकी मौत हो गई। ओएचई पोल से टकराने की वजह से इंसुलेटर टूट गया और विद्युत आपूिर्त बंद हो गई, जिससे करीब एक घंटे तक हावड़ा दिल्ली रेल रूट बाधित रहा।

गया से कानपुर सेंट्रल के होकर नई दिल्ली जा रही महाबोधि एक्सप्रेस के स्लीपर कोच में रफीगंज गया (बिहार) निवासी सुधीर यादव दोस्तों के साथ बैठा था। वह लकड़ी के गेट बनाने का काम करता था। मित्रों ने बताया कि गर्मी की वजह से वह कोच के दरवजे पर बैठ गया था। शुक्रवार रात करीब 11:30 बजे अचानक नींद की झपकी आने से वह न्यू कंचौसी रेलवे स्टेशन व कंचौसी रेलवे स्टेशन की बीच चार नंबर पोल के पास गिर पड़ा। कोच से गिरने के दौरान वह ट्रैक किनारे ओएचई पोल से टकरा गया, जिससे उसकी मौत हो गई। कोच में हादसे का शोर सुनकर टिकट चेकिंग स्टाफ पहुंच गया।

वहीं ओएचई पोल में तेज स्पार्किंग हुई और ओएचई पोल का इंसुलेटर टूटने से बिजली आपूर्ति ठप हो गई। इसकी वजह से ट्रेन रुक गई और लोको पायलट ने इसकी सूचना कंचौसी स्टेशन मास्टर मुकेश कुमार को दी। हादसे की वजह से पीछे आ रही दो मालगाड़ी एक झींझक व एक मालगाड़ी न्यू कंचौसी रेलवे स्टेशन पर रुक गईं। टीआरडी (विद्युत एवं कर्षण) इंजीनियर अरविंद कुमार व उनकी टीम मौके पर पहुंची। एक घंटे की खड़ी मशक्कत के बाद इंसुलेटर बदला गया। रात 12.30 बजे रेल रूट बहाल हो सका। स्टेशन मास्टर मुकेश कुमार ने बताया जीआरपी को घटना का मेमो दिया गया था। करीब एक घंटा रेल रूट बाधित रहा। हादसे में यात्री की मौत हो गई। वहीं शनिवार सुबह टीआरडी की टीम ने बदले गए इंसुलेटर को चेक किया।