कानपुर, जागरण संवाददाता। एसपी पूर्वी आइपीएस सुरेंद्र दास की मौत का मामला अब कोर्ट तक पहुंच गया है। अभी तक मामले में एफआइआर दर्ज नहीं हुई है, जिसके चलते कोर्ट में अर्जी देकर अब प्राथमिकी दर्ज कराने की मांग की गई है।

एसपी सुरेंद्र दास की आत्महत्या और उनकी मौत को लेकर मंगलवार को अधिवक्ता प्रमोद सक्सेना ने सीएमएम की कोर्ट में प्रार्थना पत्र दाखिल किया है। उन्होंने समाचार पत्रों में छपी खबरों का हवाला देते हुए अर्जी को आधार बनाया है। प्रार्थना पत्र में कहा गया है कि एसपी की मौत गंभीर है, उन्होंने पारिवारिक कलह में जहर खाया था, जिससे उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई।

उनकी मौत के पीछे कई तथ्य सामने आए हैं, जिनमें पारिवारिक कलह को मुख्य बताया गया है। एसपी सुरेंद्र दास शाकाहारी थे, जबकि उनकी पत्नी ने धार्मिक त्योहार के दिन नॉनवेज खा लिया था। यह भी कलह की वजह बताई जा रही है। प्रार्थना पत्र के माध्यम से अज्ञात में प्राथमिकी दर्ज करने की मांग की गई है।

कहा गया है कि एसपी सुरेंद्र दास की मौत घरेलू विवादों की वजह से हुई, जो कि धारा 306 की परिधि में आता है। मामले में एसएसपी ने बिना प्राथमिकी दर्ज किए जांच शुरू करा दी है, जो विधि विरुद्ध है। कोर्ट में प्रार्थना पत्र की वैधानिकता पर बहस होगी।पुलिस जांच करा रही है लेकिन प्राथमिकी दर्ज नहीं की है। वहीं दूसरी ओर पुलिस के आला अधिकारियों का कहना है एसपी के परिजनों की तहरीर मिलने पर ही प्राथमिकी दर्ज की जाएगी। 

यह भी पढ़ें

आइपीएस अधिकारी सुरेंद्र दास की इलाज के दौरान मौत, पांच दिन पहले की थी खुदकुशी की कोशिश

पत्नी ने जन्माष्टमी पर खाया था नॉनवेज बर्गर, आइपीएस सुरेंद्र दास से हुआ झगड़ा

लखनऊ में आइपीएस सुरेंद्र दास का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार

क्या था वीडियो क्लिप में जिसकी वजह से एसपी पूर्वी ने खाया था जहर

Posted By: Abhishek