कानपुर, जेएनएन। आइपीएल एवं मुंबई रणजी टीम के खिलाड़ी सरफराज खान अपना खेल बेहतर बनाने में जुटे हैं और कानपुर के चाइनामैन कुलदीप यादव की गेंदों पर भी अपना हाथ साफ कर चुके हैं। बीते दिनों कानपुर आए सरफराज ने कुलदीप की गेंदों को खेलना एक पहेली बताया था और उनके कोच से बारिकियां भी सीखी थीं।

सचिन का रिकार्ड तोड़कर चर्चा में आएं थे सरफराज

आजमगढ़ के सगड़ी तहसील के बासूपार गांव में रहने वाले सरफराज हैरिस शील्ड अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट में धाकड़ पारी खेलकर चर्चा में आएं थे। महज 12 वर्ष की उम्र में सरफराज ने 421 गेंदों पर 439 रन की पारी खेलकर महान बल्लेबाज सचिन के 434 रन के व्यक्तिगत रिकार्ड को तोड़ दिया था। मैराथन पारी में सरफराज ने 56 चौके व 12 छक्के जमाएं थे।

रोवर्स मैदान में सीखीं बारिकियां

बीते दिनों कानपुर के रोवर्स मैदान में भाई मुशीर के साथ पहुंचे सरफराज ने चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव के कोच कपिल देव पांडेय से प्रशिक्षण हासिल किया, वहीं उनके भाई मुशीर ने भी गेंदबाजी के गुर सीखे। मूलरूप से आजमगढ़ के रहने वाले सरफराज खान रॉयल चैलेंजर्स, पंजाब सरीखी टीम का हिस्सा रह चुके हैं। सरफराज कहते हैं कि कुलदीप की गेंदों को खेलना शुरू से ही एक पहेली रहा है। इसलिए उनकी चाहत थी कि वह स्पिनर गेंदबाजों के खिलाफ शॉट सेलेक्शन की बारीकियों का प्रशिक्षण लें। इसी वजह से वह यहां आए थे और कोच कपिल देव पांडेय व कुलदीप की गेंदों पर अभ्यास करके बारिकियां सीखीं। नेट्स मैच गेंदबाजी व बल्लेबाजी पर तीनों खिलाडिय़ों ने विचार-विमर्श किया।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021