हमीरपुर, जेएनएन। Bride refused to marriage शादी के मंडप के नीचे सात फेरे लेने का सपना संजोए एक दूल्हे को उस वक्त बड़ा झटका लगा, जब दुल्हन ने शादी करने से इन्कार कर दिया। तिलक-गोदभराई की रस्में पूरी होने के बाद अचानक ऐसा क्या हुआ कि दुल्हन ने शादी से मना कर दिया? यह वजह वर पक्ष में कौतूहल का विषय बनी रही। मामला इतना बढ़ गया कि पंचायत बुलाई गई फिर काफी मान-मनौव्वल के बाद जो वजह सामने आई उसे सुनकर हर शख्स दंग रह गया। ऐसा क्या हुआ आइए जानते हैं: 

यह है पूरा मामला: कानपुर देहात के युवक की शादी हमीरपुर की युवती के साथ दो वर्ष पहले तय हुई थी। दोनों के घरों में शादी की तैयारियां चल रही थीं। दूल्हे की बरात चार दिन बाद 24 जून को हमीरपुर जानी थी। लगभग सभी निमंत्रण पत्र अतिथियों में वितरित किए जा चुके थे। वर पक्ष के घर में शादी की खुशियां उस वक्त फीकी पड़ गईं जब वधू के पिता का फोन आया। उन्होंने कहा कि बेटी अब ब्याह नहीं रचाना चाहती। यह सुनकर वर पक्ष में एक सन्नाटा खिंच गया। दूल्हे की मां ने वधू पक्ष के घर जाकर बात की, लेकिन कोई निष्कर्ष नहीं निकला। बढ़ते-बढ़ते मामला पंचायत तक जा पहुंचा। दूल्हे ने बताया कि मां आज भी गांव में ग्रामीणों के साथ पंचायत में मामले का समाधान कराने में जुटी हैं, लेकिन लड़की वाले मानने को तैयार ही नहीं हैं और न ही गोदभराई का सामान वापस कर रहे हैं। 

शादी के लिए सूरत से आया था दूल्हा: युवक ने बताया कि वह सूरत में धागा फैक्ट्री में 18 हजार रुपये की नौकरी करता है। यहां शादी की तैयारियों के लिए पिछले माह गांव आया था। घर में किराना का सामान खरीदा गया, निमंत्रण पत्र छपवाकर रिश्तेदारों को बांटे गए। बरात ले जाने के लिए रोड लाइट, डीजे व बस बुक की गई थी, लेकिन अब दुल्हन के पिता ने ही फोन कर बरात लाने से साफ मना कर दिया है। दुल्हन भी तैयार नहीं है।

गोदभराई की रस्म में खर्च हुए रुपये और गहने वापस मांगे: दूल्हे ने बताया कि शादी तय होने के बाद दूल्हन की गोदभराई की रस्म हुई थी। इसमें उसे सोने के टाप्स, अंगूठी, नाक की कील, चांदी की पायल, तीन साड़ियां, सलवार सूट व अन्य सामान दिया गया था। अब लड़की वाले शादी से इन्कार तो कर रहे, लेकिन यह सारा सामान लौटाने को राजी नहीं हैं। मां ने थाने में तहरीर देकर गहने, सामान और शादी की तैयारियों में खर्च हुए रुपये वापस दिलवाए जाने की मांग की है।

इनका यह है कहना: कुरारा थाने के प्रभारी निरीक्षक बांके बिहारी सिंह ने बताया कि तहरीर मिल गई है, आगे की जांच कर कार्रवाई की जाएगी। 

शादी से पहले मांगी थी जमीन: बकौल युवक, चार दिन पहले दुल्हन के पिता ने फोन पर बोला था कि लड़की के नाम पहले दो बीघा जमीन कराओ या फिर चार लाख रुपये बेटी के नाम जमा कराओ तभी शादी होगी। दूल्हे ने बताया कि दो बीघा खेत नवेली थर्मल पावर प्लांट के पास है जो बेशकीमती है। इसी जमीन से घर का खर्चा चलता है और एेन वक्त पर लड़की के नाम जमीन कराने का दबाव बनाया गया है। उन्होंने बताया कि अब ऐसे घर से रिश्ता नहीं किया जाएगा जो शादी से पहले लड़की के नाम पर सब कुछ लिखाना चाहता है। अब लड़की वाले गोदभराई में दिया गया सामान और गहने वापस कर दें।

 

Edited By: Shaswat Gupta