कानपुर, जागरण संवाददाता। चौबेपुर विकास खंड कार्यालय में उस समय अफरा तफरी मच गई, जब एक बकरी मुंह में फाइल दबाकर भाग निकली, जानकारी हुई तो पीछे से एक युवक ने बकरी से फाइल बचाने के लिए दौड़ लगाई। इस घटनाक्रम का वीडियो वायरल हुआ तो तरह तरह के कमेंट भी शुरू हो गए। किसी ने कहा कि बकरी फाइल की जांच करने ले जा रही है तो काेई बोला भाई, बड़ा घोटाला लगता है, किसी ने कमेंट किया-बकरी भूखी है, उसे भी चारे की है दरकार।

चौबेपुर ब्लाक के कार्यालय में पंचायत सचिव का दफ्तर है, यहां पर ग्राम विकास से जुड़े कार्यों की फाइलें आदि रहती हैं। यहीं पर पंचायत से जुड़े कर्मी और अफसर बैठकर अपना काम निपटाते हैं। इन दिनों इस दफ्तर का एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें एक बकरी मुंह में फाइल से जुड़े कागजात लेकर भाग रही है और उसे पकड़ने के लिए एक युवक पीछे पीछे दौड़ लगा रहा है। हालांकि जागरण डॉट काम इस वीडियो की पुष्टि नहीं करता है लेकिन जानकारी के अनुसार यह वीडियो चौबेपुर विकास खंड कार्यालय का बताया जा रहा है। वहीं बकरी जो फाइल मुंह में दबाकर चबा रही है, वह ग्राम पंचायत राजारामपुर के विकास कार्यों से जुड़ी बताई गई है।

क्या है वीडियो में

वीडियो में चौबेपुर ब्लाक कार्यालय में कुछ लोग पंचायत सचिव दफ्तर के बाहर धूप में कुछ कर्मी बैठेकर काम निपटा रहे हैं। दफ्तर का कक्ष खाली होने के कारण उसके अंदर बकरी घुस गई। वीडियो में दफ्तर से बाहर आई बकरी मुंह में किसी फाइल के कागजात दबाकर भाग रही है, जैसे ही उसपर कर्मियों की नजर पड़ी तो अफरा तफरी मच गई। एक युवक फाइल पाने के लिए उस बकरी के पीछे तेजी से भाग रहा है लेकिन बकरी उसकी पकड़ में नहीं आ रही है। बकरी उसे काफी इधर-ऊधर घुमा रही है। जबतक युवक उसे पकड़ पाया तबतक बकरी फाइल के कागजात का काफी हिस्सा चबा चुकी थी।

तरह-तरह के वायरल हुए कमेंट

विकास कार्यों की फाइल लेकर बकरी के भागने वाला वीडियो वायरल हुआ तो इंटरनेट मीडिया के प्लेटफार्म पर तरह तरह के कमेंट भी शुरू हो गए। किसी ने उस वीडियो के रिवर्ट पर लिखा- लगता है बकरी जांच के लिए फाइल लेकर जा रही है। तो किसी ने कहा- लगता है भई को बड़ा घोटाला हुआ है। तो किसी ने लिखा- गाय के चारे का इंतजाम किया जा रहा है तो बकरी को भी अब चारा चाहिये। तो किसी ने कहा- गांव का विकास तो बकरी खा गई भई।

क्या बोले जिम्मेदार

इस बारे में चौबेपुर खंड विकास अधिकारों मन्नू लाल यादव का कहना है कर्मचारी कक्ष से बाहर धूप में बैठकर काम कर रहे थे, बकरी किस समय दफ्तर के अंदर घुस गई और फाइल का पन्ना ले आई किसी को पता नहीं चला। यह बेहद गंभीर लापरवाही है, मामले में संबंधित कर्मचारी से स्पष्टीकरण तलब किया गया है। बकरी के पीछे गया युवक संबंधित कागजात बकरी के मुंह से निकला लाया था लेकिन उसका एक हिस्सा गायब था। कर्मचारियों को दफ्तर कक्ष के अंदर बैठकर काम करने की हिदायत दी गई है।

Edited By: Abhishek Agnihotri