कन्नौज, जेएनएन। कहते हैं कि ऊपर वाला सब देखता है और सजा भी देता है। कुछ ऐसा ही कन्नौज के एक गांव में मजार में किशोर के साथ हुआ, यहां चोरी करने आए किशोर का हाथ दानपात्र से धन निकालते समय फंस गया। उसका हाथ ऐसा फंसा कि फिर निकल न सका और पूरी रात वह दर्द से तड़पता रहा और साथी भी उसे छोड़कर फरार हो गए। सुबह उसके रोने की आवाज सुनकर लोग पहुंचे तो घटना की जानकारी हुई। सूचना पर आई पुलिस ने उसका हाथ दानपात्र से बाहर निकाला और अस्पताल में भर्ती कराया है।

कन्नौज सदर कोतवाली के गांव मड़हारपुर में बाबा हज़रत लाल शहीद की मजार है। सोमवार रात किशोर अपने साथी चौधरियापुर निवासी के साथ मजार पहुंचा। यहां रखे लोहे के दानपात्र से पैसे चोरी करने का प्रयास किया। मगर ताला लगा होने के कारण कामयाबी नहीं मिली। लिहाजा दोनों ने किसी तरह सरिया या लोहे की दूसरी चीजों की मदद से दानपात्र का ऊपरी हिस्सा उचका दिया। इसके बाद एक किशोर ने उसमें हाथ डाल दिया। पैसे निकालने के दौरान उसका हाथ फंस गया। काफी कोशिश की, लेकिन कामयाबी नहीं मिली। रातभर कोशिश करता रहा, मगर हाथ नहीं निकला। सुबह हुई तो उसका साथी वहां से भाग गया, जिसका हाथ दानपात्र में फंसा था वह वहीं बैठा-बैठा रोने लगा।

उसकी आवाज सुनकर गांव के लोग मजार पहुंचे। गांव के लोगों ने पुलिस को सूचना दे दी। पुलिस ने मजार की देखरेख करने वालों से चाभी मंगाकर दानपात्र का ताला खुलवाया और युवक का हाथ बाहर निकाला। पुलिस ने युवक को अस्पताल में भर्ती कराया। कोतवाली प्रभारी विकास राय ने बताया कि किशोर मैनपुरी का रहने वाला है। वह मानीमऊ स्थित एक ईंट भट्ठे पर काम करता है। वह गंभीर बीमारी से पीड़ित है। बताया जा रहा है उसे कैंसर है। किशोर को उनके स्वजन के हवाले कर दिया गया है। मामले में तहरीर नहीं मिली है, लिहाजा कोई कार्रवाई अभी तक नहीं की गई है।

Edited By: Abhishek Agnihotri