कानपुर, जेएनएन। लॉकडाउन खुलने के बाद भी लंबे समय तक शारीरिक दूरी का पालन करना होगा। इसके लिए रेलवे ने खाका तैयार करना शुरू कर दिया है और यात्रियों के लिए नए नियम भी बनाए जा रहे हैं। इसके तहत रेलवे स्टेशन पर अब सिर्फ यात्रियों को ही प्रवेश मिलेगा और स्वजनों को अंदर जने की मनाही होगी। वहीं स्टेशन के कैंट और सिटी साइड में भी एक-एक गेट से इंट्री का सिस्टम रहेगा। दिव्यांग और बुजुर्गों की मदद के लिए पोर्टर और वालेंटियर्स लगाए जाएंगे।

रोजाना 70 हजार से एक लाख यात्रियों का रहता है आवागमन

कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए यात्री ट्रेनों का परिचालन बंद है। लॉकडाउन खुलने और यात्री ट्रेनों के परिचालन के संबंध में रेल अफसरों ने हाथ-पैर चलाने शुरू कर दिए हैं। सेंट्रल स्टेशन के निदेशक हिमांशु शेखर उपाध्याय ने बताया कि सामान्य दिनों में रोजाना यात्र करने वाले 70 हजार और पीक सीजन में प्रतिदिन करीब एक लाख लोगों का आना-जाना रहता है। यात्री ट्रेनों का परिचालन कब से होगा, यह निर्णय तो उच्चाधिकारी लेंगे, लेकिन स्थानीय स्तर पर शारीरिक दूरी का पालन कराने की योजना तैयार की जा चुकी है। योजना के तहत प्लेटफार्म पर सिर्फ यात्री ही जा सकेंगे। यात्रियों को ट्रेन छूटने से कुछ समय पहले ही इंट्री लेनी पड़ेगी।

ट्रेन आने पर करना होगा फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन

ट्रेन पर चढ़ने व उतरने के दौरान भी शारीरिक दूरी के पालन के लिए वालेंटियर्स मौजूद रहेंगे। जनरल बोगियों में भीड़ नियंत्रित करने के लिए आरपीएफ तैनात रहेगी। स्टेशन निदेशक ने बताया कि कोच में शारीरिक दूरी का पालन कराने के संबंध में बोर्ड के अधिकारियों को निर्णय लेना है। फिलहाल स्टेशन पर शारीरिक दूरी के पालन का प्रस्ताव तैयार करके मुख्यालय को भेजा है। स्वीकृति पर अमल में लाया जाएगा।

Posted By: Abhishek Agnihotri

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस