चित्रकूट, जागरण संवाददाता। मुंबई-हावड़ा रेल रूट पर ट्रेनों का आवागमन प्रभावित बना हुआ है। गुरुवार को भी एक्सप्रेस ट्रेनों को तीन से चार घंटे तक स्टेशनों पर रोका गया। पवन एक्सप्रेस, सुपर फास्ट संघमित्रा एक्सप्रेस, गोंदिया- बरौनी एक्सप्रेस, पटना सुपर फास्ट एक्सप्रेस समेत कई ट्रेनों विलंबित हुईं। इससे ट्रेन में सवार यात्रियों को खासा परेशानी का सामना करना पड़ा। दरअसल, मानिकपुर-सतना खंड में सिंगल सिस्टम की इंटरलाकिंग का काम चल रहा है, जिसकी वजह से समस्या बनी हुई है। गुरुवार को मानिकपुर और सतना के बीच 22 ट्रेनों का आवागमन प्रभावित हो चुका है।

मुंबई- हावड़ा रेल मार्ग में सतना और मानिकपुर रेल खंड के बीच चल रहे इंटर लाकिंग का काम से गुरुवार को कई नान स्टापेज ट्रेनें मानिकपुर जंक्शन और अन्य स्टेशनों पर तीन से चार घंटे रोकी गईं। इसमें पवन एक्सप्रेस को जैतवरा स्टेशन पर तीन घंटे, सुपर फास्ट संघमित्रा एक्सप्रेस और पवन एक्सप्रेस को मझगवा स्टेशन में चार घंटे, गोंदिया- बरौनी एक्सप्रेस को टिकरिया स्टेशन पर चार घंटे और पटना सुपर फास्ट एक्सप्रेस मानिकपुर जंक्शन पर दो घंटे रोका गया। इसके अलावा अन्य कई ट्रेनें भी प्रभावित रहीं। इससे यात्रियों का काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा।

मानिकपुर जंक्शन के पीडब्लूआई आशीष कुमार बताया कि भीषण ठंड से रेल संचालन पर असर पड़ रहा है और पटरी के लिए भी खतरा है। इसे देखते हुए सतर्कता बढ़ाई गई है। सतना मानिकपुर सेक्शन में 30 गैंगमैनों को लगाया गया है, जो रात और दिन की शिफ्ट में गश्त कर रहे हैं। साथ इंटरलाकिंग का काम भी चल रहा है। सुरक्षा को देखते हुए कार्य समय-समय पर कराया जाता है ताकि हादसों को रोका जा सके। स्टेशन प्रबंधक मोहन पासवान ने बताया कि सुबह पांच बजे से एक बजे तक अप व डाउन की 22 ट्रेनें प्रभावित रही हैं। उन्हें अलग-अलग स्टेशनों पर रोका गया था।

Edited By: Abhishek Agnihotri