कानपुर, जेएनएन। उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में भी फेसलेस असेसमेंट स्कीम का सेंटर बन सकता है। फिलहाल देश में आठ सेंटर हैं और आयकर विभाग द्वारा पिछले वर्ष सितंबर में लागू की गई यह स्कीम बहुत अधिक सफल है। इससे करदाताओं को काफी लाभा मिलेगा।

उप्र और उत्तराखंड के प्रधान मुख्य आयकर आयुक्त अजय दास मेहरोत्रा ने बताया कि करदाता सीधे अपने कर निर्धारण अधिकारी से न मिलें, इसके लिए 12 सितंबर 2019 को फेसलेस असेसमेंट स्कीम देश में लागू की गई थी। इसमें दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, चेन्नई, पुणे, हैदराबाद, बेंगलुरु, अहमदाबाद को सेंटर बनाया गया था। कानपुर के साथ ही देशभर से चुने गए मामले इन सेंटर में असेसमेंट के लिए भेजे जाते हैं। इस स्कीम के तहत किसी भी करदाता का असेसमेंट उसी शहर में नहीं होता।

58,319 केस अब तक दिए गए हैं। इसमें 8,701 मामलों में जो रिटर्न दिए गए थे, उन्हें ही मान लिया गया। सिर्फ 296 मामलों में विभाग ने जो रिटर्न दिया, उससे ज्यादा आय की बात कही है। इन मामलों में भी एक बार रिव्यू होता है। उन्होंने कहा कि इस स्कीम का अब तक का रिजल्ट बहुत अच्छा है और भविष्य में जब इसके सेंटर का विस्तार होगा तो यूपी और उत्तराखंड में एक सेंटर बन सकता है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021