कानपुर, जेएनएन। छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय (सीएसजेएमयू) के छात्रों का आइडिया अब व्यापक स्तर तक पहुंच सकेगा। उनके आइडिया को आगे बढ़ाने के लिए आइआइटी व हरकोर्ट बटलर प्राविधिक विश्वविद्यालय (एचबीटीयू) के प्रोफेसर सीएसजेएमयू प्रोफेसरों के साथ मिलकर काम करेंगे। तीनों संस्थानों के बीच इसे लेकर बुधवार को करार हुआ। सीएसजेएमयू कुलपति प्रो. नीलिमा गुप्ता, आइआइटी सिडबी इनोवेशन एंड इंक्यूबेशन सेंटर के प्रोफेसर इंचार्ज प्रो. अमिताभ बंदोपाध्याय व एचबीटीयू से इंक्यूबेशन डीन प्रो. नरेंद्र कोहली ने करार किया।

इस करार के बाद अब विश्वविद्यालय के बीटेक, एमबीए, बीबीए, एमसीए समेत अन्य कोर्स में अध्ययनरत छात्रों की सोच को भी उड़ान मिल सकेगी। सीएसजेएमयू अपने इनोवेशन सेंटर के लिए 16 लाख का अनुदान पहले ही स्वीकृत कर चुका है। आइआइटी, सीएसजेएमयू व एचबीटीयू इन तीनों के प्रोफेसर मिलकर संयुक्त प्रोजेक्ट में काम करेंगे। स्टार्टअप को बढ़ावा देने के लिए यह करार किया गया है। इसमें छात्र स्टार्टअप के अंतर्गत शोध कार्य भी कर सकेंगे। यहां पर छात्रों की सोच, प्रोजेक्ट व शोध को विकसित कर उन्हें स्टार्टअप तक ले जाया जाएगा। करार के दौरान एचबीटीयू कुलसचिव प्रो. मनोज शुक्ला, सीएसजेएमयू की इंक्यूबेशन सेंटर हेड डॉ. राशि अग्रवाल भी मौजूद रहीं।

Posted By: Abhishek

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप