कानपुर, जेएनएन। सचेंडी कस्बा में घर के अंदर पत्नी काे फांसी के फंदे पर लटका देखकर पति ने भी चाकू से अपनी गर्दन रेत ली। स्वजन कमरे में पहुंचे तो नजारा देखकर सन्न रह गए। बेटे को तड़पता देख स्वजन उसे निजी हॉस्पिटल ले गए, जहां से हैलट अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया। पुलिस ने मौके का मुआयना करके मामले की जांच शुरू की है, फिलहाल घटना की वजह अभी तक सामने नहीं आई है। अस्पताल में भर्ती युवक की हालत भी गंभीर बनी हुई है।

सचेंडी कस्बा में रहने वाले कृषक धर्म सिंह के बेटे योगेंद्र की शादी एक वर्ष पूर्व 23 वर्ष की खुशबू के साथ हुई थी। योगेंद्र गांव के पास ही बिस्किट फैक्ट्री में काम करता है। रविवार देर रात खुशबू ने संदिग्ध हालात में फांसी लगा ली, सुबह उसका शव फंदे पर लटका देखकर आहत योगेंद्र ने चाकू से अपना गला रेत लिया। कमरे में पहुंचे स्वजन बहू का शव फंदे पर लटकता व बेटे योगेंद्र को खून से लथपथ जमीन पर तड़पता देखकर आवाक रह गए। आनन फानन स्वजन योगेंद्र को पास के निजी हॉस्पिटल ले गए, जहां डॉक्टरों ने उसकी गंभीर हालत को देखते हुए हैलट अस्पताल रेफर कर दिया।

घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस ने मुआयना करके महिला के मायके वालों को सूचना दी। ससुरालीजनों ने पुलिस को बताया कि रविवार को पूरा परिवार दर्शन के लिए मंदिर गया था, जहां से देर शाम घर लौटने के बाद योगेंद्र खाना खाने के बाद अपने कमरे में सोने के लिए चला गया था। देर रात चीख-पुकार सुनाई देने पर परिवार के लोग कमरे में पहुंचे। इसके बाद उन्हें घटना की जानकारी हुई। सचेंडी थाना प्रभारी सतीश कुमार राठौर ने बताया कि घटना का कारण अभी स्पष्ट नहीं है। मामले की जांच व पोस्टामार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही स्थिति स्पष्ट हो पाएगी। फिलहाल महिला के मायके में घटना के संबंध में जानकारी दे दी गई है।