उरई, जेएनएन। जिले में चोरी की वारदातें थमने का नाम नहीं ले रही हैं। पुलिस प्रशासन की मुस्तैदी को चोर लगातार चुनौती दे रहे हैं। अब चोर आस्था के केंद्र को भी नहीं छोड़ रहे हैं। बुधवार की रात कुसमिलिया गांव में चोरों ने बड़ी माता मंदिर की दान पेटिका चुरा ली इसके बाद दूसरी चोरी की घटना को अंजाम देने की फिराक में घूम रहे लोगों की नजर चोरों पर पड़ गई। जिसके बाद गांव वालों ने शोर मचाते हुए पीछा कर लिया। हड़बड़ाहट में चोर कच्चे रास्ते से भागने लगे। इस दौरान उनकी बाइक कीचड़ में फंस गई। जिसके बाद उनको बाइक छोड़कर भागना पड़ा। सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने बाइक कब्जे में लेकर चाेरों की तलाश शुरू कर दी है।

बुधवार की रात को ग्राम कुसमिलिया में बड़ी माता मंदिर में लगी दानपेटिका को चोर निकालकर ले गए। जिसके बाद दूसरी चोरी की फिराक में घूम रहे चोरों को ग्रामीणों ने देख लिया। ग्रामीणों ने शोर मचाया तो चोर गाड़ी लेकर भागने लगे अचानक इसी दौरान उनकी गाड़ी कीचड़ में फंस गई और चोर बाइक छोड़ कर भागने में सफल हो गए। ग्रामीणों ने चाेरों को काफी ढृंढने का प्रयास किया लेकिन पता नहीं चला। सुबह होते ही ग्राम प्रधान प्रतिनिधि कृष्ण कुमार राजपूत ने पुलिस को सूचना दी तो डकोर पुलिस मौके पर पहुंची और गाड़ी को कब्जे में लेकर ग्रामीणों से चोरी की घटना को लेकर पूछताछ की और जांच में जुट गई। पकड़ी गई बाइक के आगे नंबर प्लेट में ब्राह्मण लिखा है। डकोर थानाध्यक्ष अशोक कुमार वर्मा का कहना हैं कि ग्रामीणों की सूचना पर बाइक को थाने में लेकर आये हैं। चोरों को जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जायेगा। वहीं नंबर प्लेट पर जाति लिखी हाेने पर जिले की ट्रैफिक व्यवस्था पर भी सवाल उठ रहा है। लगातार अभियान चलने के बाद भी जिले में रोक नहीं लग पा रही है।

Edited By: Abhishek Agnihotri