कानपुर, जेएनएन। घाटमपुर में कानपुर देहात सीमा से जुड़े गांव गिरसी के मजरा सुरजन सिंह का पुरवा में मंगलवार को विदाई के समय दुल्हन के परिजनों और पड़ोसियों में जमकर लाठी-डंडे चले। इससे दुल्हन के माता, पिता, भाई समेत दोनों पक्षों के नौ लोग जख्मी हो गए। मारपीट देख घबराए बराती दुल्हन को विदा कराए बगैर गांव से भाग निकले।

सुरजन सिंह का पुरवा निवासी मलखान सिंह की पुत्री सुलोचना की बरात सोमवार रात औरैया के रंधीपुर से आई थी। भांवरों व कलेवा आदि की रस्मों के बाद मंगलवार दोपहर पड़ोस में विदाई का बुलावा दिया जा रहा था। दूल्हा सुरेंद्र व बराती भी वहीं मौजूद थे। इसी दौरान पुरानी रंजिश को लेकर मलखान के परिवार का पड़ोसी लल्ला सिंह से विवाद हो गया। बात इतनी बढ़ गई कि देखते ही देखते दोनों पक्षों के बीच लाठी-डंडे चलने लगे। इसमें दुल्हन के पिता पिता मलखान सिंह, मां कौशल्या, भाई वीर सिंह, वीरेंद्र सिंह एवं 15 वर्षीय ममेरा भाई शिवा, जबकि दूसरे पक्ष के शिशुपाल सिंह, लल्ला सिंह, बहादुर सिंह एवं उनका पुत्र नरेश सिंह घायल हो गया। लाठी-डंडे चलने से घबराए बराती दुल्हन को विदा कराए बिना भाग निकले।

पिता मलखान सिंह का आरोप है कि पड़ोसियों ने बरातियों से भी अभद्रता की, जिससे वह विदाई कराए बिना चले गए। सूचना पर पहुंची पुलिस घायलों को सीएचसी लाई, जहां प्राथमिक उपचार के बाद बहादुर, लल्ला सिंह, मलखान व कौशल्या को गंभीर अवस्था में उर्सला अस्पताल रेफर कर दिया गया। कार्यवाहक थानाध्यक्ष बृजेश कुमार ने बताया कि एक पक्ष की तहरीर पर लल्ला सिंह, बहादुर, सुभाष अरङ्क्षवद, जगराम व धीरज के खिलाफ मारपीट की रिपोर्ट दर्ज की गई है। दूसरे पक्ष से भी तहरीर मिलने पर मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।  

Posted By: Abhishek

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप