कानपुर, जेएनएन। बिठूर थाना क्षेत्र के एक गांव में चचेरे भाई की छेड़खानी से परेशान 14 वर्षीय छात्रा ने गुरुवार देर रात फांसी लगा कर जान दे दी। सूचना पर पहुंची पुलिस व फॉरेंसिक टीम ने साक्ष्य जुटाए।छात्रा के पिता के मुताबिक उनके कोई औलाद न होने के कारण उन्होंने उसे गोद लिया था। वह कक्षा नौ में पढ़ती थी। उनकी पत्नी गुरुवार को भाई को राखी बांधने सुबह बेटे के साथ मायके गई थी।

उन्हीं को लेने वह शाम को ससुराल गए थे। बेटी घर में अकेली थी। फोन पर उनके भाई ने सूचना दी की बेटी ने कमरे में फंखे के कुंडे से फांसी लगा ली है। आनन फानन उसे फांसी से उतारा गया तब उसकी सांसें चल रही थीं। इसके बाद वह पत्नी और बेटे के साथ घर पहुंचे। बताते हैं कि दम तोडऩे से पहले छात्रा ने परिजनों को बताया कि चचेरा भाई उससे छेड़छाड़ करता था। गुरुवार को भी बाथरूम में बंद कर दिया था। आरोपित की मां ने दरवाजा खुलवाकर बेटे को डांटा भी था। छेड़छाड़ से आहत होकर छात्रा ने देर रात फांसी लगा ली। फिलहाल अभी परिजनों ने किसी के खिलाफ कोई तहरीर नहीं दी है।  

Posted By: Abhishek