कानपुर, जेएनएन। फतेहपुर के बिंदकी आंबेडकरनगर में मौसा के घर पर रह कर पढ़ाई कर रही डीएलएड छात्रा की गोली लगने से मौत हो गई। घटना के बाद से परिजन घर पर ताला डालकर गायब हैं, वहीं आसपास के लोगों की जुबां पर एक ही सवाल है कि ये सब कैसे हो गया और इसकी वजह क्या है। पुलिस ने घटना की छानबीन शुरू की और परिजनों के आने पर ही हालात स्पष्ट हो पाने की बात कही है।

कानपुर के थाना महाराजपुर के सरसौल गांव की रहने वाली 20 वर्षीय गुडिय़ा पुत्री अनिल गुप्ता बिंदकी कस्बे के अभय प्रताप डिग्री कॉलेज से डीएलएड की पढ़ाई कर रही थी। वह आंबेडकर नगर स्थित अपने मौसा राजू गुप्ता के घर रहती थी। बुधवार सुबह अचानक उसके सीने में गोली लग गई। परिजन उसे लेकर सीएचसी पहुंचे। इसके बाद कानपुर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया। यहां उपचार के बाद छात्रा की मौत हो गई।

वारदात के बाद से घर पर ताला लटक रहा है। इस वजह से पुलिस ये पता नहीं कर पाई कि आखिर गोली कैसे लगी। सीओ अभिषेक तिवारी का कहना है कि परिजनों के वापस आने के बाद ही पूछताछ हो जाएगी। घर पर पुलिस तैनात कर दी गई है। कानपुर पुलिस से भी संपर्क किया जा रहा है। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021