जासं, कानपुर : गंगा का जलस्तर तेजी से बढ़ने से सिचाई विभाग और जिला प्रशासन ने गंगा के किनारे के गांवों में सतर्कता बढ़ा दी है। तेजी से बढ़ते गंगा जलस्तर की वजह से सोमवार दोपहर करीब दो बजे बिठूर ब्रह्मावर्त घाट स्थित ब्रह्मा मंदिर की ब्रह्मा खूंटी डूब गई। दस दिन में शुक्लागंज में गंगा का जलस्तर तीन मीटर बढ़ गया है। चेतावनी बिदु से मात्र 1.58 मीटर दूर है।

तेजी से गंगा के बढ़ते जलस्तर को देखते हुए गंगा कटरी के रमेल नगर, बाकरगंज, ईश्वरीगंज, हृदयपुर, ख्योरा कटरी, भगवानदीन पुरवा, भोपाल पुरवा, हिदूपुर, शिवदीन पुरवा, समेत दर्जनों भर गांवों में सतर्कता बढ़ा दी गई है। साथ ही बैराज के आसपास घाटों में भी सतर्कता बढ़ा दी गई है। बैराज में घाट की तरफ जाने से पुलिस ने लोगों को रोक दिया है। नरोना बांध से 74 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है। इसके चलते बिठूर में गंगा का जलस्तर बढ़ गया है। बिठूर के घाटों में भी सतर्कता बढ़ा दी गई है। 17 जुलाई को शुक्लागंज में गंगा का जलस्तर 108.48 मीटर था जो अब 111.42 मीटर तक पहुंच गया है। तीन मीटर जलस्त बढ़ गया है। शुक्लागंज में चेतावनी बिदु 113 मीटर है। इससे 1.58 मीटर गंगा दूर है।

---------------

गंगा का जलस्तर का हाल

बैराज में अप स्ट्रीम पर जलस्तर - 113 मीटर

डाउन स्ट्रीम (बैराज से भैरोघाट की तरफ) 112.57 मीटर

शुक्लागंज में जलस्तर - 111.42 मीटर

चेतावनी बिदु - 113 मीटर

--------------

खतरे का निशान 114 मीटर

बैराज से भैरोघाट की तरफ छोड़ा पानी - 1,29,254 क्यूसेक

नरोना बांध से बैराज सोमवार को आया पानी - 74,874 क्यूसेक

Edited By: Jagran