जागरण संवाददाता, कानपुर : चकेरी में शादी समारोह में हर्ष फाय¨रग में जान गंवाने वाले फौजी कुलदीप दीक्षित के दोस्त संजय मौर्य पर हत्या का मुकदमा दर्ज हुआ है।

रायबरेली के पूरे मंगली गांव निवासी अंबाला में तैनात फौजी कुलदीप की सोमवार देर रात श्यामनगर के पीतांबरा गेस्ट हाउस में हर्ष फाय¨रग में मौत हो गई थी। राइफल कुलदीप की थी जिसे रायबरेली रालपुर निवासी संजय चला रहा था। कुलदीप के बहनोई लखनऊ रुचिखंड निवासी शशिकांत की तहरीर पर संजय के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया। उन्होंने बताया कि शादी समारोह खत्म हो गया था तब रात दो बजे हर्ष फाय¨रग का क्या मतलब था। संजय ने जानबूझकर गोली मारी है। वहीं संजय ने बताया कि कुलदीप ने वर-वधू के खाना खाते समय एक फायर करने को कहा था। उसका हाथ ट्रिगर पर था तभी एक बच्चे की टक्कर लगने पर गोली चल गई। वह मध्यप्रदेश में रहकर एयरफोर्स की तैयारी कर रहा। उधर मंगलवार को पोस्टमार्टम में सामने आया कि सीने पर दाईं ओर से गोली लगते हुए दिल को पंचर कर बाएं हाथ को छूकर निकल गई। दिल पंचर होने से ही मौत हुई। वहीं मामले पर गेस्ट हाउस संचालक अजीत अवस्थी ने कुछ भी कहने से मना कर दिया है। पुलिस ने सीसीटीवी के फुटेज कब्जे में लेने के साथ ही शादी में हुई वीडियोग्राफी मांगी है। सीओ कैंट अजीत चौहान ने बताया कि आरोपी को जेल भेजा जाएगा। वीडियो फुटेज खंगाले जा रहे है। जांच के बाद गेस्ट हाउस संचालक पर भी कार्रवाई होगी।

कुलदीप को खींच लाया काल

नौ फरवरी को छुट्टी आए कुलदीप रविवार को कानपुर देहात शादी में शामिल होने अपनी कार से आए थे। वहीं सोमवार को बहन कल्पना ने भाई को रोका था कि मत जाओ। कई बार कहने के बाद भी कुलदीप नहीं माने और यहां शादी में शामिल होने आ गए थे।

By Jagran