कानपुर, जेएनएन। कोरोना का अब कानपुर में एक भी सक्रिय केस नहीं है। देश-विदेश में रह रहे लोग त्योहारों पर घर वापसी कर रहे हैं। बड़ी संख्या में लोगों की घर वापसी को ध्यान में रखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने फोकस सैंपङ्क्षलग कराने का निर्णय लिया है। फोकस सैंपलिंग के जरिये अंतिम वार कर कोरोना वायरस के संक्रमण की चेन तोड़ी जाएगी, ताकि जिले से वायरस का सफाया किया जा सके। इसे ध्यान में रखते हुए अलग-अलग तिथियों में अभियान चलाकर सैंपलिंग कर आरटीपीसीआर जांच कराई जाएगी।

अपर निदेशक चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण डा. जीके मिश्रा ने त्योहारों को देखते हुए फोकस सैंपलिंग का निर्देश मंडल के सभी सीएमओ को दिया है। सीएमओ डा.नैपाल सिंह ने बताया कि बुधवार से दो नवंबर तक कोविड-19 की फोकस सैंपलिंग कराई जाएगी। पहले दिन स्ट्रीट वेंडर व सब्जी एवं फल विक्रेता, दूसरे दिन स्कूल-कालेज, तीसरे दिन नारी निकेतन, बाल सुधार गृह व जुवनाइल होम, चौथे दिन बाल संप्रेक्षा गृह व अनाथालय, पांचवें दिन जिला कारागार, छठे दिन रिक्शा व टेंपो स्टैंड, सातवें दिन बस स्टैंड, आठवें दिन बाजार व छोटे बाजार, किराना स्टोर व शाङ्क्षपग माल, नौवें दिन सैलून व बुटीक और 10वें दिन रेस्टोरेंट व ढाबा में फोकस सैंपङ्क्षलग कराई जाएगी। इसके लिए सभी जिम्मेदारों को पत्र लिखा है।

इनसे मांगा सहयोग: सीएमओ ने सैंपलिंग के लिए जिलाधिकारी, पुलिस आयुक्त एवं मुख्य विकास अधिकारी को पत्र लिखा है। इसमें सभी थानों के थानाध्यक्षों को सैंपलिंग में सहयोग प्रदान करने का निर्देश देने का आग्रह किया गया है।

Edited By: Shaswat Gupta