कानपुर, जेएनएन। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर पिछले साल दिसंबर में हुए एक और मुकदमे में पुलिस ने चार्जशीट लगा दी है। कर्नलगंज में हजारों अज्ञात लोगों के खिलाफ दायर इस मुकदमे में पुलिस ने लंबी चली जांच के बाद 13 स्थानीय लोगों के खिलाफ अदालत में आरोप पत्र दायर किया है।

सीएए को लेकर 20 दिसंबर 2019 को शहर का माहौल खराब हो गया था। हजारों की संख्या में मुस्लिम प्रदर्शनकारियों ने कई इलाकों में हिंसक प्रदर्शन किया था। बवाल में तीन लोग मारे गए थे जबकि कई गोली लगने से घायल हुए थे। बवाल मुख्य रूप से बाबूपुरवा व यतीमखाना में हुआ था। यतीमखाना से बड़ा चौराहा जा रही हजारों की भीड़ ने कारसेट चौराहे पर हंगामा किया था और तोडफ़ोड़ की थी।

थाना कर्नलगंज में वरिष्ठ उपनिरीक्षक परवेज अली ने हजारों अज्ञात प्रदर्शनकारियों के खिलाफ मुकदमा कराया था। पुलिस ने इस मामले में चुपचाप 13 लोगों के खिलाफ चार्जशीट लगा दी है। थाना प्रभारी कर्नलगंज देवेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि वीडियो फुटेज के आधार पर आरोपितों की पहचान की गई है।

पूरे शहर से जुटे थे प्रदर्शनकारी

सीएए बवाल में लोकल इंटेलीजेंस यूनिट की नाकामी सामने आई थी। कर्नलगंज के इस मुकदमे में जिन लोगों की शिनाख्त की गई है, वह पड़ोस के थानों ग्वालटोली, बेकनगंज, बजरिया आदि से आए थे। यानी पहले ही प्री प्लान तरीके से भीड़ एकत्र की गई थी, जिसे लोकल इंटेलीजेंस यूनिट भांप नहीं सकी थी।

इन्हें बनाया गया है आरोपित

मो. रेहान निवासी हाजी अमीन का हाता थाना बजरिया, गुरगुट उर्फ साहिबे आलम निवासी टीना भाकेटी थाना बेकनगंज, अदनान निवासी कंघी मोहाल मस्जिद के सामने थाना बजरिया, मो. जुनैद निवासी सराय वाली मस्जिद थाना ग्वालटोली, मो. शरीफ निवासी चर्च रोड ग्वालटोली, शाबेज निवासी चर्च वाली गली थाना ग्वालटोली, शानू निवासी चर्च वाली गली थाना ग्वालटोली, जुबैर निवासी ग्वालटोली, जुनैद उर्फ नीलू निवासी सराय वाली मस्जिद थाना ग्वालटोली, नजर निवासी ग्वालटोली, आजम निवासी ग्वालटोली, आफाक निवासी गिरधारी लाल का हाता थाना ग्वालटोली, गोलू निवासी नवाब कंपाउंड थाना ग्वालटोली।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021