कानपुर, जेएनएन। थाना क्षेत्र के मधियाखेड़ा गांव में घरेलू कलह के चलते सात माह की दुधमुंही बच्ची का मोह छोड़कर विवाहिता ने जहर खा लिया। स्वजन एक प्राइवेट नर्सिंगहोम लेकर गए जहां उसने दम तोड़ दिया। मायका पक्ष पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने का इंतजार कर रहा है। 

मधिया खेड़ा गांव निवासी अशोक विश्वकर्मा की 25 वर्षीय पत्नी रागिनी देवी ने रविवार देर रात संदिग्ध हालात में जहर खा लिया था। हालत बिगडऩे पर ससुरालीजन उसे अस्पताल लेकर गए जहां उसकी मौत हो गई। अभी सात माह पूर्व ही दिवंगत ने बच्ची को जन्म दिया था। खबर मिलने पर बांदा जिले के थाना जसपुरा के सिकहुला गांव से आए पिता नंद किशोर विश्वकर्मा ने बताया कि बेटी की शादी वर्ष 2013 में की थी। वह पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने का इंतजार कर रहे हैं। थाना प्रभारी राजीव कुमार सिंह ने कहा कि ससुरालीजन जहर खाकर जान देने की बात कह रहे हैं, पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। कहा कि अभी मायके पक्ष से कोई आरोपित तहरीर नहीं आई है। 

Edited By: Akash Dwivedi