जागरण टीम, कानपुर : चौबेपुर के जगदीप यादव के पास 50 क्विटल गेहूं है, लेकिन अभी वे इसे बेच नहीं पाए हैं। मंगलवार को खरीद का अंतिम दिन होने के कारण किसान सारा दिन परेशान रहे। अब क्रय केंद्रों पर गेहूं खरीद की तिथि 22 जून किए जाने के बाद अब वे आसानी से गेहूं बेच सकेंगे। इसी तरह उन किसानों को भी राहत मिलेगी जो अब तक गेहूं नहीं बेच पाए थे या टोकन लेने के बाद भटक रहे थे।

छाजा स्थित गेहूं क्रय केंद्र पर मंगलवार को 22 टोकनों पर खरीद बची थी। मंगलवार को 15 किसान आए थे, इसमें पांच किसानों से 349 क्विटल गेहूं खरीदा गया। स्योढ़ारी गांव के केंद्र पर 60 टोकन पर खरीद नहीं हो पायी। मंगलवार को 11 किसानों से ही खरीद की जा सकी। बरीपाल स्थित गेहूं क्रय केंद्र में जारी हुए 322 टोकन में मंगलवार शाम तक 302 किसानों का गेहूं खरीदा जा चुका है। अभी 20 किसानों से खरीद नहीं हो सकी। नर्वल तहसील के पाल्हेपुर साधन सहकारी समिति में सेंगरनपुरवा निवासी शांति को मंगलवार को तौल कराने के लिए बुलाया गया था। सुबह जब वो पहुंचीं तो ई-पॉश मशीन में उनकी अंगुलियों के निशान न आने की बात कहते हुए केंद्र से वापस कर दिया गया। इसके बाद शांति ने एसडीएम अमित ओमर से शिकायत की। एसडीएम के आदेश पर केंद्र पहुंचीं तहसीलदार वर्तिका श्रीवास्तव ने जब ई पाश मशीन पर अंगूठा लगवाया तो लग गया। इसके बाद गेहूं की तौल कराई गई। रतनपुर भीतरगांव निवासी अजयपाल सिंह ने बताया कि पिछले एक माह से चक्कर लगा रहे , लेकिन तौल नहीं कराई गई। नसड़ा निवासी श्याम विलास सिंह ने नायब तहसीलदार से शिकायत करते हुए बताया कि सोसाइटी से उन्होंने खाद भी उधार ले रखी है। इसके बावजूद पिछले एक माह से टरकाया जा रहा है, जबकि बाद में टोकन लेने वाले किसानों से गेहूं खरीद लिया गया।

-----------------

बोरे न होने से खरीद बंद

साधन सहकारी समिति बौसर में दो दिन से बोरी न होने के चलते गेहूं खरीद ठप पड़ी हुई है। मंगलवार को केद्र प्रभारी राजू सिंह मौके पर नहीं मिले। तहसील से लगाए गए अमीन रंजीत शुक्ला व प्रवीन कुमार सिंह ने बताया कि बोरियां न होने के चलते परेशानी हो रही है।

-----------------

गेहूं खरीद की तिथि बढ़ा दी गई है। अब 22 जून तक खरीद होगी। ऐसे में किसानों का गेहूं आसानी से तौल लिया जाएगा।

- संतोष कुमार यादव, जिला खाद्य एवं विपणन अधिकारी

Edited By: Jagran