कन्नौज, जेएनएन। विशुनगढ़ थाना क्षेत्र सरदामई गांव के कब्रिस्तान में दो दिन से पेड़ पर शव लटका रहा, सोमवार की सुबह ग्रामीणों की नजर पड़ी तो सनसनी फैल गई। उसकी पहचान पड़ोस के गांव के एक किसान के रूप में हुई, जो दो दिन से लापता था। किसी ने उसकी हत्या के बाद शव को पेड़ पर लटका दिया था, जिसपर कीड़े रेंगने लगे थे। घटना को लेकर पुलिस छानबीन कर रही है, वहीं परिजन अभी चुप्पी साधे हैं।

विशुनगढ़ के गांव धीरपुर निवासी 50 वर्षीय विजय भान उर्फ डिप्टी यादव खेती करके परिवार का भरण पोषण करते थे और ब्याज पर लोगों को रुपये भी देते थे। 19 अक्टूबर की सुबह वह घर से निकले लेकिन देर रात वापस नहीं लौटे। इसपर परिजनों ने उनकी तलाश शुरू की थी, कहीं पता नहीं चला तो रविवार को पत्नी शशि देवी ने थाने जाकर गुमशुदगी दर्ज कराई थी।

अभी परिजन विजय की तलाश कर ही रहे थे कि सोमवार सुबह पास के ही गांव सरदामई में कब्रिस्तान के अंदर पेड़ के तने से कोई लटका नजर आया। ग्रामीण नजदीक पहुंचे तो पेड़ पर शव लटका देखते ही सनसनी फैल गई। तेज बदबू और शरीर पर कीड़े रेंगते देखकर कोई पास जाने की हिम्मत नहीं जुटा सका। ग्रामीणों से जानकारी मिलने पर विशुनगढ़ थानाध्यक्ष इंद्रपाल सरोज मौके पर पहुंचे और शव की शिनाख्त डिप्टी यादव के रूप में हुई। इसकी जानकारी मिलते ही परिजनों में चीखपुकार मच गई।

हत्या से पहले काटे गए सिर के बाल

पेड़ पर लटके मिले डिप्टी यादव की हत्या से पहले सिर के बाल काटे गए थे। ग्रामीणों ने बताया कि उसके सिर के बाल गायब थे और मोटे धागे से गर्दन को पेड़ से बांधा गया था। इसके साथ ही एक धागा कमर की तरफ भी बंधा था। पुलिस ने उच्चाधिकारियों को घटना की जानकारी देने के साथ फॉरेंसिक टीम को भी बुलाया। हालांकि घटना को लेकर अभी परिजन कुछ भी नहीं बोल रहे हैं। थानाध्यक्ष ने बताया कि परिजनों की तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज किया जाएगा, जल्द ही मामले का पर्दाफाश होगा।

Posted By: Abhishek

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप