कानपुर (जेएनएन)। कानपुर स्थित महाराजपुर के सरसौल में रघुनाथ सिंह उर्फ बाबू सिंह के मकान में दोपहर लगभग एक बजे तेज धमाके के साथ विस्फोट हो गया। इसकी चपेट में आसपास के सात घर आए हैं। सभी मकान पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गए हैं। मलबे से रघुनाथ के बेटे नीरज समेत दो के शव निकाले जा चुके हैं। कई के मरने की आंशका है। लखनऊ से एनडीआरएफ की टीम को घटनास्थल पर राहत कार्य के लिए रवाना कर दिया गया है।

आईटीबीपी के जवान और स्थानीय पुलिस राहत और बचाव कार्य में लगे हैं। गली पतली होने के कारण एंबुलेंस और जेसीबी भी नहीं पहुंच पा रही हैं। घटना कैसे हुई है अभी तक इसकी पुख्ता जानकारी नहीं मिल पाई है।

यह भी पढ़ें: गोरखपुर में नाव पलटी, चार महिलाएं लापता

हालांकि आशंका जताई जा रही है कि पटाखे की बारूद फटने से ऐसा हुआ होगा। क्षेत्र में पहले भी कई बार ऐसे हादसे हो चुके हैं यहां बड़े पैमाने पर पटाखों का कारोबार अवैध तरीके से चलता है। डीआईजी सोनिया सिंह ने कहा कि फिलहाल तो उनकी सबसे बड़ी प्राथमिकता वहां फंसे लोगों को जल्द से जल्द निकाल कर अस्पताल पहुंचवाना है। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि विस्फोट के कारणों की जांच भी की जा रही है और इसके बारे में जल्द बताया जाएगा।

यह भी पढ़ें: दारू और उधारी चुकाने के लिए दोस्तों को सौंप दी पत्नी

Posted By: Amal Chowdhury

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस