मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

फर्रुखाबाद, जेएनएन।  जहानगंज थाना क्षेत्र में शनिवार रात नलकूप पर सोए पूर्व प्रधान की चाकू से गोदकर हत्या कर दी गई। रविवार सुबह प्रधान का शव देखकर गांव में सनसनी फैल गई। एसपी समेत आला अधिकारी व फॉरेंसिक टीम मौके पर पहुंची और जांच की। 
गांव शरफुद्दीनपुर (मधवापुर) निवासी 62 वर्षीय पूर्व प्रधान रामसेवक राजपूत शनिवार रात अपने परिवारिक रिश्तेदार रामानंद के नलकूप पर सोए थे। रविवार सुबह रामानंद की पुत्री सब्जी लेने खेत पर गई तो उसकी नजर रामसेवक के खून से लथपथ पड़े शव पर पड़ी। उसने घर पहुंच कर परिजनों को घटना की सूचना दी। उधर ग्रामीणों की सूचना पर एसपी डा. अनिल मिश्रा, एसओ अंगद सिंह और फारेंसिक टीम ने मौके पर पहुंच कर जांच की। रामानंद के पुत्र रमेश ने अज्ञात के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई है।

रामसेवक 15 वर्ष पूर्व अपना मकान व पांच बीघा खेत बेच चुके हैं। उनका एक भाई दिल्ली में रह रहा है। रामसेवक की पत्नी व पुत्र उन्हें लगभग 25 वर्ष पूर्व ही छोड़कर कहीं अलग रह रहे हैं। रामसेवक वर्तमान में जनपद कन्नौज के कस्बा छिबरामऊ में स्थित साई मीर डिग्री कालेज में पढ़ा रहे थे। वह चार दिन पूर्व ही गांव में अपने परिवारी रामानंद राजपूत के घर आए थे। पुलिस घटना के पीछे प्रेम प्रसंग के बिंदु पर भी जांच कर रही है।


मोबाइल में मिलीं 15 मिस्ड कॉल
पुलिस ने पूर्व प्रधान के मोबाइल को कब्जे में लिया है। बताया गया है कि मोबाइल में रात 8.30 से 10.30 तक 15 मिस्ड कॉल अलग-अलग नंबरों से आई हैं।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Abhishek

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप