कानपुर, जेएनएन। अक्सर ही भविष्य निधि कार्यालय में अंशदाता, नियोक्ता व पेंशनर अपनी शिकायत दर्ज कराने के बाद भी कई दिनों तक इस उम्मीद में चक्कर लगाते रहते हैं, कि उनकी समस्या का समाधान अब हो गया होगा। मगर, कार्यालय में न तो कभी समस्याओं पर ध्यान दिया जाता है और शिकायत लेकर आने वाले को अनदेखा व अनसुना कर दिया जाता है। लेकिन, अब शिकायतकार्ताओं को तीस दिन में समाधान मिलेगा, इसके लिए उसे ईपीएफआइजीएमएस पोर्टल पर शिकायत दर्ज करानी होगी। भविष्य निधि कार्यालय द्वारा सीएम के आइजीआरएस की तर्ज पर शिकायती पोर्टल की शुरुआत की गई है।

अगर अंशदाता, पेंशनर व नियोक्ता अपनी शिकायत का समाधान एक माह में चाहते हैं, तो वह पीएफ से जुड़े आनलाइन पोर्टल- ईपीएफआइजीएमएस पर शिकायत दर्ज करा सकेंगे। इस पोर्टल पर शिकायत अपलोड होने के 30 दिनों बाद उसका निस्तारण हर हाल में विभागीय अफसरों को करना होगा। विभाग के ही आला अफसरों ने बताया कि किसी आमजन की शिकायत को दूर करने के लिए जिस तरह सीएम का आइजीआरओस पोर्टल कार्य करता है, ठीक वैसे ही ईपीएफआइजीएमएस पोर्टल पर पीएफ व पेंशन से जुड़ी दिक्कतों को दूर किया जाएगा।

हर माह आतीं सैकड़ों शिकायतें : विभाग के एक आला अफसर ने बताया कि यह पोर्टल केंद्रीयकृत व्यवस्था के तहत काम करता है। इस पर कोई भी अंशदाता, पेंशनर या नियोक्ता कहीं से भी अपनी शिकायत दर्ज करा सकता है। जिसकी जानकारी संबंधित विभाग को मिलते ही अफसर, उसका संज्ञान लेते हैं।

-सिस्टम में पारदर्शिता बनी रहे और अंशदाता व पेंशनर को किसी तरह की परेशानी न हो, इसके लिए वह ईपीएफआइजीएमएस पोर्टल पर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं। 30 दिनों के अंदर शिकायत खत्म हो जाएगी। -चेतन यादव, क्षेत्रीय भविष्य निधि आयुक्त द्वितीय

Edited By: Abhishek Agnihotri